लखनऊ केस: पीड़ित कैब चालक का बयान आया सामने, लड़की को किया बेनकाब.. बताई सच्चाई


लखनऊ: कृष्णानगर में कैब चालक की पि’टाई का मामला इन दिनों सुर्खियों में है। इस घटना को लेकर लोगों में बहुत गुस्सा भी है। जब से सीसीटीवी फुटेज सामने आई है, लोग कैब ड्राइवर को न्याय दिलाने की मांग कर रहे हैं और लड़की को सजा देने की मांग भी की जा रही हैं क्योंकि सीसीटीवी फुटेज में साफ साफ दिखाई दे रहा है कि कैब ड्राइवर बिल्कुल बेकसूर है। युवती ने बेवजह उसे पी’टा और मोबाइल के साथ ही कैब का शीशा तोड़ दिया।

जब इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर ज्यादा बवाल मचा तो पुलिस हरकत में आई और आरोपी युवती के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। सड़क पार कर रही युवती बिना वजह कैब ड्राइवर पर भड़क गई थी उसने चालक को कैब से बाहर खींचकर खूब पि’टाई की थी। लेकिन निर्दोष होते हुए भी ड्राइवर मार खाता रहा और लड़की पर उल्टा हाथ नहीं उठाया। बीच-बचाव कर रहे चालक के भाई को भी युवती ने कई तमाचे जड़े थे।


सबसे शर्म की बात तो ये है कि कृष्णानगर पुलिस ने युवती की बजाय कैब चालक को ही गिरफ्तार कर लिया था। कैब ड्राइवर के भाई इनायत अली व दाऊद अली उसे ढूंढते हुए कृष्णानगर कोतवाली पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें भी हवालात में बंद कर दिया। मतलब हमारे देश में अगर लड़का लड़की की लड़ाई हो जाए तो सभी लड़के पर ही सारा दोष मंढ देते हैं। पिछले कुछ समय में ऐसे बहुत से मामले सामने आए हैं जिसमें लड़की गलत होते हुए भी अपना गर्ल विक्टिम कार्ड प्ले करती है।

जोमेटो वाले केस को ज्यादा टाइम नहीं हुआ है जब एक लड़की ने खाना डिलीवर करने गए युवक पर जूठा मारपी’ट का आरोप लगाया था। कुछ साल पहले हरियाणा के रोहतक में भी दो बहनों ने रोडवेज बस में निर्दोष लड़कों की बेल्ट से पि’टाई की थी बाद में लंबे समय के बाद कोर्ट ने फैसला दिया कि लड़के निर्दोष हैं लेकिन इस घटना ने लड़कों का करियर बर्बाद कर दिया था। और हद तो तब हो गई थी जब हरियाणा की उस समय की सरकार ने बिना सच जानें लड़की को हिरोइन घोषित करते हुए ईनाम तक देने की घोषणा कर दी थी। ना जाने ऐसे कितने केस आए दिन आते रहते हैं।


कैब ड्राइवर ने क्या कहा जानिए

फिलहाल इस मामले में युवती के खिलाफ केस दर्ज होने के बाद कैब चालक और उसके वकील के बयान भी सामने आए हैं। हालांकि अभी तक युवती की ओर से कोई बयान या शिकायत नहीं दर्ज की गई है। आइये आपको बताते हैं हैं इस घटना को लेकर पीड़ित युवक और उसके वकील का क्या कहना है

पीड़ित कैब ने समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए कहा है, “मैं घर जा रहा था. चौराहे पर ग्रीन लाइट थी. युवती राइट साइड से आई थी. वो घूम कर मेरी कैब के पास आई. उसने मेरा मोबाइल निकाल लिया और पूरा तोड़ दिया. मैंने पूछा कि मेरी क्या गलती है, लेकिन उसने कुछ नहीं कहा. कैब के दोनों मिरर खराब कर दिए. मेरे पैसे रखे थे गाड़ी में वो भी निकाल लिए. 600 रुपये थे.”

कैब ड्राइवर ने आगे कहा “जब मुझे थाने ले गए तो मैंने कहा कि मुझे छोड़ दीजिए. लेकिन वहां महिला का पक्ष लिया गया. उसकी रिपोर्ट लिखी गई. लेकिन मेरी कोई सुनवाई नहीं हुई. हमारे वकील हैदर और रियाज ने मुझे छुड़वाया. थाने में ही जो हवालात होती है, वहां मुझे रखा गया. खाना-पीना भी नहीं दिया गया.”


सआदत अली कहते हैं कि इस घटना की वजह से उनके आत्मसम्मान को चोट पहुंची है। उन्होंने कहा कि उन्हें केवल अपना आत्मसम्मान चाहिए। साथ ही उन्होंने गाड़ी को हुए नुकसान की भरपाई की मांग की है।

0/Post a Comment/Comments