IPL सीजन में सबसे ज्यादा बार सिंगल डिजिट पर आउट होने वाले 6 बल्लेबाज - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Friday, June 4, 2021

IPL सीजन में सबसे ज्यादा बार सिंगल डिजिट पर आउट होने वाले 6 बल्लेबाज

   


टी20 को बल्लेबाज का फेवरेट फॉर्मेट माना जाता हैं. इस प्रारूप में खिलाडी तो क्रीज में आते ही बड़े शॉट खेलने की आज़ादी दी जाती हैं. हालाँकि इस दौरान कई बल्लेबाज तेजी से रन बनाने के प्रयास में जल्दी पवेलियन लौट जाते हैं.

इस फॉर्मेट में खिलाड़ी के लिए कम से कम गेंद पर ज्यादा से ज्यादा रन बनाना अहम होता हैं. इसी मद्देनजर आज इस लेख में हम 6 ऐसे खिलाड़ियों के बारे में जानेगे, जो आईपीएल सीजन में सबसे अधिक बार 10 से कम के स्कोर पर आउट हुए हैं.

6) हनुमा विहारी- 8 बार (2013)

हनुमा विहारी ने आईपीएल के 2013 संस्करण में सनराइजर्स के लिए डेब्यू किया. उन्होंने उस सीज़न में 17 मैच खेले लेकिन टीम के लिए प्रभाव डालने में असफल रहे. उस सीज़न के दौरान उन्हें गेंदबाजों ने 8 बार दहाई का आंकड़ा तक छूने नहीं दिया था. सीजन में विहारी ने 17 मैचों में 17.21 के औसत से 271 रन बनाए थे.

5) गौतम गंभीर- 8 बार (2014)

गौतम गंभीर ने 2014 के संस्करण में अपने दूसरे आईपीएल खिताब के लिए कोलकाता नाइट राइडर्स का नेतृत्व किया. हालाँकि, बल्ले से उनका फॉर्म उनके जैसे दिग्गज खिलाड़ी के लिए सही नहीं था. उन्होंने 16 मैचों में 22.33 की औसत से 335 रन बनाए. वह 2014 के आईपीएल में 8 बार सिंगल डिजिट पर आउट हुए थे.

4) रोहित शर्मा- 8 बार (2017)

गौतम गंभीर की तरह ही 2017 आईपीएल में रोहित शर्मा के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. रोहित की टीम मुंबई इंडियंस ने तीसरी बार खिताब अपने नाम किया लेकिन रोहित शर्मा का व्यक्तिगत प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा. दिग्गज बल्लेबाज ने 17 मैचों में 23.78 की मामूली औसत से 333 रन बनाए. इस दौरान वह 8 मैचों में सिंगल डिजिट पर आउट हुए.

3) पृथ्वी शॉ- 8 बार (2020)

आईपीएल 2020 सीजन में शानदार शुरुआत करने के बाद दिल्ली कैपिटल्स टूर्नामेंट के अंतिम चरण में पत्री से उतर गई. इसका एक बड़ा कारण टॉप आर्डर के बल्लेबाजों की नाकामी थी. पृथ्वी शॉ ने टूर्नामेंट में अच्छी शुरुआत की, हालांकि जैसे-जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ा उनका प्रदर्शन बेहद खराब होता गया. सीजन में शॉ 8 बार दहाई का आंकड़ा तक नहीं छू पाए, इस खिलाडी ने 13 मैचों में 17.53 की औसत से सिर्फ 228 रन बनाए.

2) दीपक हूडा- 9 बार (2016)

दीपक हुड्डा ने आईपीएल 2015 में राजस्थान रॉयल्स से खेलते हुए डेब्यू किया और अपने दूसरे मैच में ही अपनी आतिशी पारी से सभी को हैरान कर दिया. उन्होंने 24 गेंदों में 54 रनों की तूफानी पारी खेली. जिसके बाद अगले 3-4 सीजन उनके बल्ले से अर्द्धशतक नहीं निकला. 2016 सीजन उनके करियर का सबसे सीजन रहा. जिसमें उन्होंने 14 मैचों में 10.28 के निराशाजनक औसत से सिर्फ 151 रन बनाए. वह 9 मौकों पर सिंगल डिजिट में आउट हुए.

1) दिनेश कार्तिक- 9 बार (2020)

दिनेश कार्तिक ने 2020 के आईपीएल के शुरुआती मैचों में केकेआर का नेतृत्व किया. एक टीम के रूप में कुछ निराशाजनक प्रदर्शनों के बाद, कप्तानी छोड़ने का फैसला किया. दरअसल कार्तिक का मानना था कि कप्तानी का दवाब उनकी बैटिंग पर पड़ रहा हैं. हालाँकि कप्तानी छोड़ने के बाद भी उनका प्रदर्शन नहीं सुधरा. इस दिग्गज ने सीजन में खेले 14 मैचों में 14.08 की बेहद खराब औसत से सिर्फ 169 रन बनाये, जबकि 9 बार वह दहाई का आंकड़ा तक नहीं छू पाए.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment