IPL इतिहास में फ्रेंचाइजी द्वारा लिए गए 5 फैसले जिसने फैन्स की भावनाओं को ठेस पहुंचाई - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Friday, June 4, 2021

IPL इतिहास में फ्रेंचाइजी द्वारा लिए गए 5 फैसले जिसने फैन्स की भावनाओं को ठेस पहुंचाई

  


फ्रेंचाइजी को प्रशंसकों को भावनात्मक रूप से फ्रेंचाइजी में निवेशित रखने की जरूरत है. यदि वे ऐसा करने में विफल रहते हैं, तो वे प्रशंसकों के लॉन्गटर्म समर्थन को खोने का जोखिम उठा सकते हैं. हालांकि आईपीएल के इतिहास में फ्रेंचाइजी के कुछ फैसले इस सोच के खिलाफ गए हैं.

आईपीएल में ऐसा कई बार देखने को मिला हैं, जब फ्रैंचाइज़ी द्वारा लिए गए फैसलों ने टीम के फैन्स की भावनाओं को ठेस पहुंचाई हैं. ऐसे ही 5 फैसले आज इस लेख में हम जानेगे.

1) राइजिंग पुणे ने एमएस धोनी ने हटाकर स्टीव स्मिथ को कप्तान बनाया

एमएस धोनी शायद भारत के सबसे महान कप्तान हैं. वह एक ऐसे खिलाड़ी भी हैं, जिनके बड़े पैमाने पर प्रशंसक हैं. हालांकि, आईपीएल 2017 में, राइजिंग पुणे सुपरजायंट ने एमएसडी को कप्तान के रूप में हटाने का फैसला किया और उनकी जगह स्टीव स्मिथ को ये जिम्मेदारी दी. धोनी पर आरपीएस के मालिक के कमेंट भी प्रशंसकों को अच्छे नहीं लगे. धोनी की वजह से ही फ्रैंचाइजी की फॉलोइंग काफी बढ़ी थी. यह थोड़ा अपमानजनक लग रहा था कि उन्होंने उन्हें एक कप्तान के रूप में रिप्लेस किया गया, हालांकि एमएसडी ने आईपीएल 2016 में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया. अच्छी बात ये रही कि एक साल बाद, एमएसडी ने 2018 में एक और आईपीएल ट्रॉफी जीती.

2) IPL के बाद RCB ने राहुल द्रविड़ को रिलीज किया

आरसीबी अपने प्रशंसकों को हैरान करने वाले फैसले लेने के लिए जानी जाती है. 2010 में, उन्होंने आईपीएल 2011 से पहले राहुल द्रविड़ को रिलीज कर दिया. यह समझ में आता था कि शायद वह रिटेनमेंट राशि के लायक नहीं हो सकते है, लेकिन चौंकाने वाली बात यह है कि आरसीबी ने कभी भी नीलामी में उन्हें फिर से नियुक्त करने का प्रयास नहीं किया. द्रविड़ बेंगलुरू से मजबूती से जुड़े हुए हैं और आरसीबी के प्रशंसक इस फैसले से परेशान थे. उन्हें लगा कि द्रविड़ को फ्रैंचाइज़ी का हिस्सा होना चाहिए था क्योंकि यही कारण था कि कई लोग आरसीबी को फॉलो कर रहे थे. यह आईपीएल इतिहास के उन फैसलों में से एक था जिसने प्रशंसकों को आहत किया.

3) KKR ने सौरव गांगुली से छिनी कप्तानी

सौरव गांगुली पश्चिम बंगाल से आने वाले सबसे महान क्रिकेटरों में से एक हैं. भारतीय टीम के साथ अपनी उपलब्धियों पर हर बंगाली को गर्व है. हालांकि, केकेआर अपने दृष्टिकोण में बहुत व्यावहारिक थे और शायद उन्होंने इस दिग्गज की कद्र नहीं की. टीम ने पहले उनसे कप्तानी छीन ली गई और कई मौकों पर उन्हें टीम से बाहर भी कर दिया गया. इसके आलावा टीम कोचों ने भी उन पर कई कमेंट किए. इस तरह की फैसलों ने फैन्स को काफी दुःख पहुंचाया.

4) SRH ने सीजन के बीच में डेविड वॉर्नर को कप्तानी से बर्खास्त किया

यह आईपीएल इतिहास के हालिया फैसलों में से एक है जिसने प्रशंसकों को चौंका दिया. डेविड वॉर्नर का किसी भी अन्य स्थानीय खिलाड़ी की तुलना में SRH के साथ अधिक जुड़ाव है. ये खिलाडी आईपीएल इतिहास का सबसे कंसिस्टेंट बल्लेबाज रहा हैं और हैदराबाद को बतौर कप्तान एक ट्रॉफी भी जीता चूका हैं. फिर भी, आईपीएल 2021 में, सनराइजर्स ने उन्हें ड्राप कर दिया और उनकी जगह विलियमसन को फ्रैंचाइज़ी के कप्तान के रूप में नियुक्त किया. ये एक ऐसा फैसला था, जिसने फैन्स को भावनाओं को आहत किया.

5) दिल्ली ने आईपीएल 2014 में सहवाग को रिलीज किया

वीरेंद्र सहवाग कुछ सीज़न के लिए दिल्ली डेयरडेविल्स का हिस्सा थे. हालांकि, आईपीएल 2014 से पहले, उन्हें फ्रेंचाइजी से रिलीज कर दिया गया था. दिल्ली टीम में सबसे अधिक फैन्स सहवाग के थे. इसके अलावा, सहवाग दिल्ली से थे और उन्होंने प्रशंसकों के साथ एक मजबूत संबंध स्थापित किया. इसलिए टीम मैनेजमेंट के इस फैसले ने उनके चाहने वालों का दिल तोड़ दिया.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment