IPL में 8 वर्षों तक एक ही फ्रैंचाइजी के लिए खेलने वाले 6 विदेशी खिलाड़ी - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Thursday, May 13, 2021

IPL में 8 वर्षों तक एक ही फ्रैंचाइजी के लिए खेलने वाले 6 विदेशी खिलाड़ी

  


ओवरसीज खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. इसमें विदेशी खिलाड़ी के बिना आईपीएल प्लेइंग इलेवन के बारे में सोचना असंभव है. भारतीय खिलाड़ी टीम का मुख्य समूह बनाते हैं, वहीं विदेशी भी टीम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. साथ ही, आईपीएल में, अन्य देशों के कुछ बड़े नाम भाग लेते हैं.

आज इस लेख में हम 6 ऐसे विदेशी खिलाड़ियों के बारे में जानेगे, जो आईपीएल में एक ही फ्रैंचाइज़ी के लिए 8 या उससे भी अधिक वर्षों से लगातार खेल रहे हैं.

6) एबी डिविलियर्स- रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर

एबी डिविलियर्स आईपीएल के इतिहास के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं. वह मध्य क्रम में बल्लेबाजी करते है और अपने बड़े शॉट्स के साथ मैच को खत्म करने की क्षमता रखते है.

आईपीएल 2010 के बाद दिल्ली डेयरडेविल्स/दिल्ली कैपिटल्स द्वारा रिलीज करने के बाद आरसीबी ने डिविलियर्स पर दाव खेला था, जिसके बाद से वह टीम के प्रमुख अंग बन गए हैं.

5) किरोन पोलार्ड- मुंबई इंडियंस

चैंपियंस लीग टी20 में अपने शानदार प्रदर्शन के बाद मुंबई इंडियंस ने किरोन पोलार्ड को साइन किया. पोलार्ड ने अपना पहला आईपीएल कॉन्ट्रैक्ट वर्ष 2010 में हासिल किया था.

तब से, मुंबई इंडियंस ने उसे कभी भी रिलीज नहीं किया. पोलार्ड अपने पूरे आईपीएल करियर में मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा रहे हैं और उन्होंने मुंबई की फ्रेंचाइजी के साथ पांच चैंपियनशिप जीती हैं.

4) लसिथ मलिंगा- मुंबई इंडियंस

लसिथ मलिंगा एक अन्य विदेशी खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने करियर में केवल एक ही फ्रेंचाइजी के लिए आईपीएल खेला हैं. मलिंगा शुरू से ही मुंबई इंडियंस का हिस्सा थे और रिटायरमेंट तक इसी टीम के लिए खेलते रहे.

वर्तमान में, श्रीलंका के दाएं हाथ के पेसर आईपीएल में सबसे सफल गेंदबाजों की सूची में शीर्ष स्थान पर हैं. उन्होंने अपने आईपीएल करियर की आखिरी गेंद पर विकेट लिया और MI को ट्रॉफी दिलाई.

3) शॉन मार्श- पंजाब किंग्स

ऑरेंज कैप का खिताब हासिल करने वाले शॉन मार्श आईपीएल इतिहास के पहले क्रिकेटर थे. वह लीग में सबसे कंसिस्टेंट बल्लेबाजों में से एक रहे.

पंजाब किंग्स ने लीग के 2017 के संस्करण के बाद सभी को हैरान करते हुए उनके साथ 10 सीज़न की एसोसिएशन को समाप्त कर दिया. इससे भी ज्यादा हैरानी की बात यह है कि पंजाब के रिलीज होने के बाद किसी भी फ्रेंचाइजी ने आईपीएल नीलामी में मार्श को साइन नहीं किया.

2) ड्वेन ब्रावो- चेन्नई सुपर किंग्स

ड्वेन ब्रावो ने आईपीएल के पहले तीन सीजन में मुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल खेला. उसके बाद चेन्नई सुपर किंग्स ने उन्हें नीलामी में खरीदा.

ब्रावो सीएसके के लिए बल्ले और गेंद दोनों के साथ एक गेम-चेंजर रहे हैं. जबकि ब्रावो ने गुजरात लायंस के लिए दो सत्र खेले, वह अब 8 साल से अधिक समय तक सीएसके के लिए खेलने में सफल रहे हैं.

1) फाफ डु प्लेसिस- चेन्नई सुपर किंग्स

ब्रावो की सीएसके टीम के साथी फाफ डु प्लेसिस एक अन्य खिलाड़ी हैं जो 2011 में सुपर किंग्स में शामिल हुए थे. दक्षिण अफ्रीकी स्टार CSK के लिए एक विश्वसनीय बल्लेबाजी विकल्प रहा है.

फाफ ने हमेशा एमएस धोनी की टीम के लिए आईपीएल खेला है. जब सीएसके निलंबित हो गई, तो 2018 में सीएसके में लौटने से पहले धोनी और डु प्लेसिस ने राइजिंग पुणे सुपरजायंट के लिए दो सत्र खेले.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment