3 मौके जब ऑरेंज कैप विजेता खिलाड़ियों को IPL नीलामी में नहीं मिला कोई खरीदार - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Sunday, May 2, 2021

3 मौके जब ऑरेंज कैप विजेता खिलाड़ियों को IPL नीलामी में नहीं मिला कोई खरीदार

  


टी20 टी-ट्वेंटी एक ऐसा फॉर्मेट हैं, इसमें कब क्या हो कुछ नहीं कहा जा सकता हैं. इस फॉर्मेट में कई बार एक युवा खिलाड़ी भी पूरी टीम पर भारी पड़ जाता हैं जबकि कुछ मौकों पर कई अनुभवी खिलाड़ियों भी नहीं कर पाते हैं.

आईपीएल में ऐसा भी कई बार देखने को मिला हैं जब एक खिलाड़ी एक सीजन में दमदार प्रदर्शन किया जबकि अगले ही सीजन में फ्लॉप ही गए, आज इस लेख में हम 5 ऐसे ऑरेंज कैप विनर खिलाडियों के बारे में जानेगे, जो आईपीएल नीलामी में अन्सोल्ड रह चुके हैं.

1) शॉन मार्श

पहले सीजन के ऑरेंज कैप विनर शॉन मार्श आईपीएल इतिहास के सबसे कंसिस्टेंट खिलाड़ियों में से एक रहे हैं. स्टार बल्लेबाज अपने पूरे आईपीएल करियर में सिर्फ एक ही फ्रैंचाइज़ी किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेले हैं, इस दौरना उन्होंने सिर्फ 71 मैचों में 39.95 की दमदार औसत से 2477 रन बनायें हैं.

2008 में बतौर अनकैप खिलाड़ी के रूप में खेलते हुए मार्श ने ऑरेंज कैप जीती थी, जिसके बाद से वह लगातार दमदार प्रदर्शन करते आये हैं हालाँकि 2018 के बाद से उन्हें आईपीएल नीलामी में कोई खरीददार नहीं मिला हैं. मार्श ने 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट के विरुद्ध आखिरी आईपीएल मैच खेला था.

2) क्रिस गेल

क्रिस गेल ने आईपीएल इतिहास की सबसे शानदार वापसी की हैं. गेल 2010 आईपीएल में कोलकाता नाईट राइडर्स का हिस्सा थे हालाँकि उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा था, जिसके बाद आईपीएल 2011 नीलामी में उन्हें कोई खरीददार नहीं मिल पाया था.

संजोग की बात है कि इसी सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के तेज गेदबाज डर्क नैनिस चोट के कारण आईपीएल से बाहर हो गये थे, जिसके बाद गेल को रिप्लेसमेंट खिलाड़ी के रूप में आरसीबी टीम में चुना गया था. इस दौरान 2011 और 2012 में उन्होंने लगातार 2 बार ऑरेंज कैप जीती थी.

3) माइकल हसी

इस सूची में शामिल होने के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम के एक और बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं मिस्टर क्रिकेट, माइकल हसी. चेन्नई सुपर किंग्स के पूर्व खिलाड़ी ने आईपीएल 2013 में ऑरेंज कैप अवार्ड जीता था, जहां उन्होंने 16 मैचों में 733 रन बनाए थे. भले ही उन्होंने 2013 में ऑरेंज कैप जीती लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स ने उन्हें अगले सीज़न से पहले उन्हें रिलीज़ कर दिया था.

अगली नीलामी में मुंबई इंडियंस ने उन्हें अपनी टीम में शामिल किया और उन्होंने मुंबई की फ्रैंचाइज़ी के लिए दो सीजन खेले. वह आईपीएल 2015 के दौरान 4 मैचों में केवल 77 रन बना सकेम जिसके बाद मुंबई ने उन्हें रिलीज कर दिया.

2016 आईपीएल नीलामी में माइकल हसी अन्सोल्ड रहे थे, जिसके बाद उनकी दोबारा कभी वापसी नहीं हो पायी, हालाँकि 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स ने उन्हें टीम का बल्लेबाज कोच की जिम्मेदारी दी थी.

No comments:

Post a Comment