देहरादून के 23 वर्षीय क्रिकेटर को मिला था बंगाल की कप्तानी, रणजी ट्रॉफी में तहलका के बाद टीम इंडिया में शामिल - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Sunday, May 9, 2021

देहरादून के 23 वर्षीय क्रिकेटर को मिला था बंगाल की कप्तानी, रणजी ट्रॉफी में तहलका के बाद टीम इंडिया में शामिल

 


इंग्लैंड दौरे पर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल तथा मेजबान देश के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलने के लिये टीम इंडिया का ऐलान हो चुका है, 20 सदस्यीय टीम के अलावा स्टैंडबाय खिलाड़ी के रुप में 4 क्रिकेटर्स को शामिल किया गया है, जिसमें बंगाल रणजी टीम के कप्तान अभिमन्यु ईश्वरन भी शामिल हैं, अभिमन्यु लगातार दूसरी बार रिजर्व या स्टैंडबाई खिलाड़ी के तौर पर चुने गये हैं, इससे पहले वो इंग्लैंड के खिलाफ 2020-21 सीरीज में रिजर्व प्लेयर थे।

देहरादून में जन्म
उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में पैदा हुए अभिमन्यु ने 2013 में अपना पहला फर्स्ट क्लास मैच खेला था, तब बंगाल की ओर से उन्हें यूपी के खिलाफ खेलने का मौका मिला था, पहला लिस्ट ए मैच 2015 में एमपी तथा पहला टी-20 मैच 2017 में त्रिपुरा के खिलाफ खेले थे, अभिमन्यु ने 2018-19 रणजी सीजन में तहलका मचा दिया था, उन्होने 6 मैचों में 95.66 के औसत से 861 रन बनाये थे, इस दौरान उनके बल्ले से तीन शतक निकले थे, तब से ही उन्हें टीम इंडिया के दावेदारों में गिना जा रहा है, हालांकि इसके बाद उनका अगला सीरीज खराब हो गया, वो 17 पारियों में 17.20 के औसत से सिर्फ 258 रन बना सके, उनका बेस्ट स्कोर 62 रन था।

बंगाल की कप्तानी
25 वर्षीय अभिमन्यु की प्रतिभा को देखते हुए उन्हें 23 साल की उम्र में ही बंगाल जैसी बड़ी टीम का कप्तान बना दिया गया, उनकी कप्तानी में टीम 2019-20 सीजन के फाइनल में पहुंची थी, सौराष्ट्र के खिलाफ उन्हें हार का सामना करना पड़ा, बंगाल 2006-07 सीजन के बाद पहली बार फाइनल में पहुंची थी, अभिमन्यु इंग्लैंड दौरे की तैयारी में अभी से ही जुट गये हैं, कोरोना काल में वो देहरादून स्थित अपने पिता की एकेडमी में ट्रेनिंग कर रहे हैं।

क्या कहा
अभिमन्यु ईश्वरन ने कहा कि यहां भी इंग्लैंड की तरह ही कंडीशन होता है, मैं इंग्लैंड दौरे के चुने जाने का इंतजार कर रहा था, इसलिये टीम के ऐलान से पहले ही तैयारी शुरु कर दी थी, हमारे यहां 7 गेंदबाज हैं, उनमें से कुछ उत्तराखंड टीम के हैं, इनमें ऑफ स्पिनर गौरव चौधरी भी हैं, हम सभी यहां कोरोना टेस्ट के बाद यहां आये हैं, पिच पर घास है, कोलकाता में कोरोना के कारण ट्रेनिंग करना मुश्किल है, इस कारण मैं यहां आ गया, हम लोग 5-6 घंटे प्रैक्टिस करते हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment