JDU विधायक और 1 दिन के शिक्षा मंत्री का कोरोना से निधन, मंत्री बनने पर हुई थी किरकिरी! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Monday, April 19, 2021

JDU विधायक और 1 दिन के शिक्षा मंत्री का कोरोना से निधन, मंत्री बनने पर हुई थी किरकिरी!

 

JDU विधायक और 1 दिन के शिक्षा मंत्री का कोरोना से निधन, मंत्री बनने पर हुई थी किरकिरी!

इस समय बिहार से बड़ी खबर सामने आ रही है, जदयू विधायक तथा पूर्व शिक्षा मंत्री डॉ. मेवालाल चौधरी का निधन हो गया है, वो तीन दिन पहले कोरोना पॉजिटिव हुए थे, कोरोना की चपेट में आने के बाद वो पटना के पारस अस्पताल में भर्ती थी, मेवालाल चौधरी पिछले साल बिहार विधानसभा चुनाव में मुंगेर की तारापुर सीट से जदयू के टिकट पर विधायक बने थे, इतना ही नहीं वो सीएम नीतीश कुमार के करीबी लोगों में गिने जाते थे, मेवालाल चौधरी की मौत के बाद परिवार के सभी सदस्य पटना में ही मौजूद हैं।

1 दिन के शिक्षा मंत्री
बिहार की मौजूदा सरकार में एक दिन के लिये शिक्षा मंत्री रहे तथा वर्तमान तारापुर विधायक मेवालाल चौधरी ने आज सुबह साढे 4.30 बजे पटना के पारस अस्पताल में अंतिम सांस ली, मेवालाल चौधरी के निधन की खबर मिलते ही सुबह-सुबह पटना के सियासी गलियारों में शोक की लहर दौड़ गई, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने अपने शोक संदेश में कहा, कि उनके निधन से मुझे व्यक्तिगत क्षति हुई है, मैं इस सूचना से स्तब्ध और मर्माहत हूं। वो एक नेक दिल इंसान, शिक्षाविद और कुशल समाजसेवी थे, ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे, तथा शोक संतप्त परिवार को दारुण दुख सहने की शक्ति दे। इसके अलावा बिहार सरकार के पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी ने भी मेवालाल के निधन पर गहरा दुख जाहिर किया है, वहीं सत्ता पक्ष के साथ-साथ राजद नेताओं ने भी इस घटना पर शोक जताया है।

गांव से शिक्षाविद और नेता बनने का सफर
डॉ. मेवालाल चौधरी तारापुर प्रखंड के कमरगांव गांव के निवासी थे, राजनीति में आने से पहले साल 2015 तक वो भागलपुर कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति थे, साल 2015 में रिटायर होने के बाद राजनीति में आये, इसके बाद जदयू ने उन्हें तारापुर विधानसभा से चुनाव लड़ाया, लेकिन चुनाव जीतने के बाद डॉ. चौधरी नियुक्ति घोटाले में आरोपित किये गये, कृषि विश्वविद्यालय में नियुक्ति घोटाले का मामला सबौर थाने में साल 2017 में दर्ज किया गया था, इस मामले में विधायक ने कोट से अंतरिम जमानत ले ली थी।

पत्नी पहले से राजनीति में
यही नहीं चौधरी की पत्नी स्व. नीता चौधरी राजनीति में काफी एक्टिव रही, वो जदयू के मुंगेर प्रमंडल की सचेतक भी थी, 2010-15 तक तारापुर सीट से विधायक रही, लेकिन 2019 में गैस सिलेंडर में लगी आग में झुलसने से उनकी मौत हो गई, mewalal choudharyहालांकि उस समय मेवालाल चौधरी भी बाल-बाल बचे थे, वो घायल हो गये थे, मेवालाल के दो बेटे हैं, बड़ा बेटा रवि प्रकाश अमेरिका में है, तो छोटा मुकुल प्रकाश ऑस्ट्रेलिया में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है।

No comments:

Post a Comment