नक्सलियों के चंगुल से रिहा होने के बाद CRPF जवान राकेश्वर सिंह ने इन 12 सवालों के दिये जवाब, जानिये क्या कहा? - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Friday, April 9, 2021

नक्सलियों के चंगुल से रिहा होने के बाद CRPF जवान राकेश्वर सिंह ने इन 12 सवालों के दिये जवाब, जानिये क्या कहा?


नक्सलियों के चंगुल से रिहा होने के बाद CRPF जवान राकेश्वर सिंह ने इन 12 सवालों के दिये जवाब, जानिये क्या कहा?

छत्तीसगढ के बीजापुर में नक्सलियों और सुरक्षा बलों के बीच हाल ही में हुई मुठभेड़ के बाद अगवा किये गये एक कोबरा कमांडो को गुरुवार के मुक्त कर दिया गया, एक अधिकारी ने बताया कि 210वीं कमांडो बटालियन फॉर रिजॉल्यूट एक्शन (कोबरा) के कांस्टेबल राकेश्वर सिंह मन्हास की मुक्ति के लिये राज्य सरकार द्वारा दो प्रमुख लोगों को नक्सलियों से बातचीत के लिये नामित किये जाने के बाद मुक्त किया गया, प्रदेश सरकार द्वारा नामित दो सदस्यीय दल में एक सदस्य जनजातिय समुदाय से थे।

बीजापुर में 3 अप्रैल को नक्सलियों और सुरक्षा जवानों के बीच हुई मुठभेड़ के बाद बंधक बनाये गये जवान राकेश्वर सिंह मनहास रिहा हो गये, रिहाई के बाद राकेश्वर सिंह ने एक निजी न्यूज चैनल को बताया कि 5 दिन नक्लसियों के कब्जे में कैसे बीते।
पहला सवाल- इन 5 दिनों में नक्सलियों ने आपके साथ कैसा व्यवहार किया
तारकेश्वर सिंह- नक्सलियों ने भी खाना दिया, उन्होने कहा था कि तुम्हें छोड़ देंगे और आज छोड़ दिया।
सवाल- 2 आप उनके चंगुल में कैसे फंसे
तारकेश्वर सिंह- मुठभेड़ वाले दिन को याद करते हुए उन्होने कहा कि ये तीन तारीख की बात है, जिन दिन मुठभेड़ हुआ था, 4 तारीख को मैं जंगल में भटकते हुए इनके चंगुल में फंसा था।
सवाल-3 क्या आप नक्सलियों को बेहोशी की हालत में मिले थे
तारकेश्वर सिंह- नहीं मैं इस समय बेहोश नहीं था, 3 तारीख को मुठभेड़ के बाद मैं बेहोश था, 4 तारीख को में इनकी गिरफ्त में गया था।
सवाल -4  कितने इलाके और कितने गांव में घुमाया गया आपको
तारकेश्वर सिंह- मुझे नहीं पता, मेरी आंख पर पट्टी बांध रखी थी

सवाल- 5 फिर उनसे पूछा गया कि क्या आपके हाथ भी बंधे रहते थे।
तारकेश्वर सिंह – हां
सवाल 6 आपको वक्त पर खाना मिलता था
तारकेश्वर सिंह- हां समय पर भोजन मिलता था
सवाल -7 क्या माओवादी संगठनों की ओर से आपको टार्चर किया गया
तारकेश्वर सिंह- बिल्कुल नहीं
सवाल-8 क्या नक्सलियों ने नौकरी छोड़ने की कोई शर्त रखी थी
तारकेश्वर सिंह- नहीं ऐसी कोई बात नहीं हुई

सवाल 9 क्या नक्सलियों ने किसी तरह की कोई शर्त रखी थी
तारकेश्वर सिंह- नहीं, नहीं
सवाल 10- नक्सलियों ने किस तरह का इंटेरोगेशन किया और पुलिस महकमे के बारे में किस तरह की जानकारी निकलवानी चाही
तारकेश्वर सिंह- कोई जानकारी नहीं मांगी
सवाल -11 नक्सलियों ने जिस दिन पकड़ा था, क्या उसी दिल बोल दिया गया था कि आपको छोड़ा जाएगा
तारकेश्वर सिंह- हां नक्सलियों की ओर से ये कहा गया था
सवाल -12 क्या नक्सलियों के कब्जे में रहने के दौरान आपको लग रहा था कि आपकी हत्या हो सकती है
तारकेश्वर सिंह- हां मुझे लग रहा था, कि मुझे मार देंगे।

No comments:

Post a Comment