ऑटो ड्राइवर से अरबपति बना ये शख्स, कोरोना संकट में दान की एक करोड़ रुपये की ऑक्सीजन - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Tuesday, April 27, 2021

ऑटो ड्राइवर से अरबपति बना ये शख्स, कोरोना संकट में दान की एक करोड़ रुपये की ऑक्सीजन

 

ऑटो ड्राइवर से अरबपति बना ये शख्स, कोरोना संकट में दान की एक करोड़ रुपये की ऑक्सीजन

वैश्विक महामारी ने पूरे भारत को अपनी चपेट में ले लिया है, देश के अस्‍पतालों में ऑक्सीजन की कमी के चलते अब तक कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं । कोरोना के इस संकट में जहां हर तरफ से बुरी खबरें ही आ रही हैं, वहीं कुछ अच्‍छी खबरें उम्‍मीद बनाए हुई हैं । महाराष्ट्र में नागपुर के एक ट्रान्सपोर्ट कारोबारी मदद के लिए आगे आए हैं, उन्होंने ऑक्सीजन की भारी किल्लत को देखते हुए करीब एक करोड़ रुपये का दान किया है ।

खुद उठाई जिम्‍मेदारी
एक करोड़ रुपये दान करने वाले इस शख्‍स नाम प्यारे खान है, नागपुर में कोरोना की गंभीर स्थिति और ऑक्सीजन की भारी कमी को देखते हुए 400 मीट्रिक टन ऑक्सीजन दान की है । प्यारे खान ऑक्सीजन दान के लिए पैसे देकर किनारे नहीं हो गए, बल्कि ऑक्सीजन सुचारू रूप से मिल पाए इसका वे खुद भी ध्यान रखे हुए हैं । प्‍यारे खान ने अपने ट्रान्सपोर्ट नेटवर्क के माध्यम से नागपुर को ऑक्सीजन की आपूर्ति की है। पिछले 10 दिनों में उन्होंने 25 टैंकरों के माध्यम से नागपुर के सरकारी और निजी अस्पतालों को लगभग 400 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की पूर्ति की है ।

ऑटो रिक्‍शा चलाने का करते थे काम
प्यारे खान खुद बड़े संघर्ष से इस मुकाम पर पहुंचे हैं, 1995 से 2001 तकवो ऑटो रिक्शा चलाने का काम करते थे । कड़ी मेहनत के बाद अब प्यारे खान अस्मी रोडवेज नामक एक बड़ी परिवहन कंपनी के मालिक हैं । सालों पहले ऑटो रिक्शा चलाकर अपना गुजारा करने वाले प्‍यारे की कंपनी में आज 1200 कर्मचारी और 300 बड़े ट्रक और टैंकर हैं । उनका कारोबार नेपाल से भूटान तक फैला हुआ है ।

कई बार हुए सम्‍मानित
प्यारे खान को भारत के प्रमुख संस्थान जैसे आईआईएम अहमदाबाद और अन्य बड़े संस्थानों से डेढ़ सौ से ज्‍यादा पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं । संकट के समय में अब वो नागपुर के लोगों के लिए दूत बनकर उभरे हैं । कुछ समय पहले ही केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने नागपुर में व्यवसाइयों से अपील की थी कि वे कोरोना संकट में आर्थिक मदद करें । जिसके बाद ही प्यारे खान ने मदद की ठानी । उन्‍होंने बेल्लारी, विशाखापत्तनम, राउरकेला, भिलाई से नागपुर तक टैंकर उपलब्ध कराए, इसके साथ ही विदर्भ में भी विभिन्न स्थानों पर ऑक्सीजन सिलेंडर भेजे हैं ।

No comments:

Post a Comment