मुलायम सिंह यादव ने नहीं करने दी राजनीति, जब अखिलेश की सौतेली मां साधना गुप्ता का छलका था दर्द! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Tuesday, April 6, 2021

मुलायम सिंह यादव ने नहीं करने दी राजनीति, जब अखिलेश की सौतेली मां साधना गुप्ता का छलका था दर्द!


मुलायम सिंह यादव ने नहीं करने दी राजनीति, जब अखिलेश की सौतेली मां साधना गुप्ता का छलका था दर्द!

 यूपी के पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने दो शादियां की है, उनकी पहली पत्नी का नाम मालती देवी था, जिनसे अखिलेश यादव उनके बेटे हैं। मालती देवी के निधन के बाद नेताजी ने दूसरी शादी रचा ली, उनकी दूसरी पत्नी का नाम साधना गुप्ता है।

पहले पति से तलाक
साधना गुप्ता ने अपने पहले पति से तलाक लेकर मुलायम सिंह यादव से शादी की थी, साधना गुप्ता के बेटे प्रतीक यादव को भी मुलायम सिंह यादव ने गोद लिया है, प्रतीक साधना के पहले पति के बेटे हैं, लेकिन पिता के नाम की जगह वो मुलायम सिंह यादव का नाम लिखते हैं। साल 2017 में साधना गुप्ता पहली बार मीडिया के सामने आई और अपना दर्द जाहिर की थी।.

साधना के चलते परिवार में कलह
दरअसल तब साधना गुप्ता पर आरोप लगे थे, कि उनकी वजह से ही मुलायम परिवार में कलह हुई है, अखिलेश के करीबियों ने कहा कि साधना गुप्ता ही वो है, जो मुलायम को उनके बेटे अखिलेश के खिलाफ भड़का रही है और परिवार को तोड़ रही है। mulayamइन्हीं आरोपों पर सफाई देते हुए साधना ने कहा था कि अगर मुझे परिवार तोड़ना होता, तो कब का तोड़ चुकी होती, इतने साल इंतजार नहीं करती, साधना ने ये भी बताया था कि वो बहुत पहले ही राजनीति में आना चाहती थी, लेकिन मुलायम सिंह यादव ने मना कर दिया।

पति मना कर देते थे
साधना गुप्ता ने बताया कि वो जब भी नेताजी से इस बारे में बात करती, तो वो ये कहकर टाल देते थे, कि मैं हूं ना ये सब करने के लिये, तो फिर तुम्हे राजनीति में आने की क्या जरुरत है, साधना के मुताबिक वो चाहती हैं कि उनके बेटे प्रतीक अब राजनीति में आएं, लोकसभा और राज्यसभा पहुंचे, साधना ने ये भी कहा था कि परदे के पीछे रहकर उन्होने परिवार के लिया काफी कुछ किया, उनके मुताबिक अखिलेश और धर्मेन्द्र यादव को सांसद बनाने में उनका बड़ा योगदान रहा।

मां पर आरोप
आपको बता दें कि अखिलेश यादव की सौतेली मां साधना गुप्ता पर आरोप लगे थे कि वो अपने बेटे प्रतीक के लिये अखिलेश को किनारे करना चाहती हैं, हालांकि कभी भी अखिलेश ने खुद इस तरह की बातें नहीं कही, mulayam wifeप्रतीक की पत्नी अपर्णा यादव भी चुनाव लड़ चुकी हैं, हालांकि उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।


No comments:

Post a Comment