कोरोना से लड़ाई में भारत के साथ आया अमेरिका, बाइडेन बोले- संकट में भारत ने की मदद, अब हम करेंगे - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Monday, April 26, 2021

कोरोना से लड़ाई में भारत के साथ आया अमेरिका, बाइडेन बोले- संकट में भारत ने की मदद, अब हम करेंगे


कोरोना से लड़ाई में भारत के साथ आया अमेरिका, बाइडेन बोले- संकट में भारत ने की मदद, अब हम करेंगे

 अमेरिका एक ऐसा देश है जो वैश्विक महामारी से सबसे ज्‍यादा प्रभावित हुआ है, और अब कुछ ऐसा ही हाल भारत का भी है । पिछले दिनों जब भारत ने अमेरिका से मदद मांगी तो अमेरिकी राष्ट्रपति की बेरुखी ने देश को निराश कर दिया । दरअसल भारत के कोरोना वैक्सीन बनाने के लिए आवश्यक कच्चे माल के निर्यात पर अमेरिका की ओर से रोक लगाने बाद भारत को बड़ा झटका लगा था । अमेरिकी राष्ट्रपति के इस फैसले की भारत समेत दूसरी जगहों पर खूब आलोचना भी हुई । लेकिन अब भारतीय NSA अजित डोभाल और अमेरिकी NSA जेक सुलिवन की बातचीत के बाद मामला लगभग सुलझ गया लगता है ।

राष्‍ट्रपति की ओर से आया बयान
वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति की ओर से एक बड़ा बयान आया है । इसमें उन्‍होंने भारत को मदद देने की प्रतिबद्धता को दोहराया है । अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक ट्वीट करते हुए कहा है, ”महामारी की शुरुआत में जब हमारे अस्पतालों पर भारी दबाव था उस समय भारत ने अमेरिका के लिए जिस तरह सहायता की थी, उसी तरह भारत की जरूरत के समय में मदद करने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं।”

उप राष्‍ट्रपति कमला हैरिस का बयान
इसी मुद्दे पर अमेरिकी उप राष्ट्रपति कमला हैरिस का भी बयान आ गया है, एक ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा है, ”अमेरिकी सरकार, कोविड-19 के प्रकोप के समय भारत को अतिरिक्त सपोर्ट और सप्लाई मुहैया कराने के लिए जमीनी स्तर पर काम कर रही है. हम भारत के लोगों के लिए प्रार्थना करते हैं, खासकर उसके बहादुर हेल्थकेयर वर्कर्स के लिए.”

वैक्‍सीन निर्माण में आएगी तेजी
अमेरिकी राष्ट्रपति से मिले इस समर्थन के बाद अब भारत में वैक्सीन बनाए जाने के Corona Vaccineकाम में काफी तेजी आएगी । मौजूद समय में कई राज्यों से वैक्सीन की शॉर्टेज बताई जा रही है, जबकि 1 मई से देश में 18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को टीका लगना है । इस बीच देश में कोविड के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं, और ऐसे में वैक्सीन ही एक बड़ा विकल्प है ।

No comments:

Post a Comment