कोरोना मरीज होम आइसोलेशन में कैसे रहें ? जानें, घर की खिड़कियां खुली रखें या बंद - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Tuesday, April 20, 2021

कोरोना मरीज होम आइसोलेशन में कैसे रहें ? जानें, घर की खिड़कियां खुली रखें या बंद

 

कोरोना मरीज होम आइसोलेशन में कैसे रहें ? जानें, घर की खिड़कियां खुली रखें या बंद

कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने देश के स्‍वास्‍थ्‍य को बिगाड़ दिया है, एक्सपर्ट के मुताबिक इस बार ये वायरस चकमा देने में कामयाब हो रहा है । कुछ में लक्षण के साथ आ रहा है, तो कुछ बिना लक्षण ही संक्रमण से लड़ रहे हैं । वो लोग जो अब तक इसकी चपेट से सुरक्षित हैं, उन्‍हें भी बहुत ध्‍यान रखने की जरूरत है । घर पर हैं और आपको कुछ खास तरह की परेशानी हो रही है तो लापरवाही ना बरतें । जानें कोरोना की दूसरी लहर से सावधान रहने के लिए कुछ बहुत ही जरूरी बातें ।

ये लक्षण इग्‍नोर ना करें
अगर आपको 37 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा बुखार आ रहा है, लगातार खांसी है, मुंह का स्वाद और सूंघने की शक्ति खत्म हो गई है, सांस लेने में तकलीफ हो रही है, थकावट और सिरदर्द के साथ गले में खराश और बदन दर्द हो रहा है तो ये लक्षण कोरोना के सामान्य लक्षणों में से एक हैं । ऐसे में आप खुद को आइसोलेट कर लें । कोरोना के इन लक्षणों में किसी खास तरह के इलाज की जरूरत नहीं है, लेकिन कोरोना है इसका टेस्‍ट जरूर करवा लें ।

सेल्फ आइसोलेशन में ऐसे रहे
अगर आप परिवार के साथ रहते हैं तो कोरोना के लक्षण दिखने पर अलग कमरे में रहना शुरू कर दें, जब तक मेडिकल एडवाइस की जरूरत न हो तब तक किसी भी कारण से बाहर न निकलें । यदि आप किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आ गए हैं तो भी ऐसा ही करें । कम से कम 14 दिन तक ऐसे ही रहें । आइसोलेशन के लिए घर की कोई ऐसी जगह या कमरा चुनें जहां प्रॉपर वेंटिलेशन हो । दवाई, खाना या ग्रॉसरी आइटम्स के लिए किसी के भी सीधे संपर्क में ना आएं । खांसते या छींकते वक्त मुंह पर रुमाल रखें, नाक या मुंह पर हाथ लगाने के बाद हाथों को सैनिटाइज करना बिल्कुल न भूलें । घर में भी मास्क पहनकर रहें ।

कॉमन जगहों का इस्‍तेमाल
कोविड आइसोलेशन में हे तो अलग बाथरूम का इस्तेमाल करना ही समझदारी है, लेकिन अगर ये शेयर करना पड़ रहा है तो इस्‍तेमाल के बाद अपने प्रयोग की हर वस्‍तु को स्‍वच्‍छ करें । घर में संक्रमित व्यक्ति सबसे आखिर में बाथरूम का इस्तेमाल करे और फि सैनिटाइज करके ही बाहर आए । इसी प्रकार  कॉमन किचन का इस्‍तेमाल ना करें, संक्रमित व्यक्ति के कमरे में ही खाने की व्यवस्था की जाए । बर्तन भी आइसोलेशन में ही रखें । बर्तनों को गर्म पानी के साथ साधारण डिटर्जेंट के साथ मांजें ।

ऐसे रखें अपना ख्‍याल, डॉक्‍टर से कब करें संपर्क
जब तक आपको कोरोना के सामान्‍य लक्षण हैं तब तक आप अपना ध्‍यान वैसे ही रखें जैसे कोल्ड या फ्लू में रखते हैं, ज्यादा पानी पीएं । धूम्रपान-एल्कोहल का सेवन न करें । लिवर डैमेज करने वाली कोई चीज ना खाएं । वो लोग जिनमें सामान्‍य लक्षणों के अलावा परेशान करने वाले लक्षण पैदा हो रहे हों, सांस में तकलीफ हो रही हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए । कोई भी दवा खुद से लेने से परहेज करें ।

घर की खिड़कियां खुली रखें
कोरोना पर शोध कर रहे एक्‍सपर्ट का मानना है कि जहां तक हो सके इंडोर जगहों पर वेंटिलेशन बढ़ाएं और घर की खिड़कियों को खुली रखें । खुले वातावरण की तुलना में बंद जगहों पर कोरोना ज्यादा फैल रहा है । AIIMS के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने भी इस बात पर जोर दिया है । वहीं मेडिकल जर्नल Lancet में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना का नया वायरस एयरबॉर्न है, ये किसी बंद जगह के मुकाबले खुली जगह में कम फैलता है । अपने घरों की खिड़कियों को खुला रखें । घर में भी एक साथ ज्‍यादा लोग ना बैठें, सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करें और मास्‍क पहने रहें ।

No comments:

Post a Comment