देश में अब नहीं होगा सांसों का संकट, ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए सरकार ने की बड़ी डील - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Saturday, April 24, 2021

देश में अब नहीं होगा सांसों का संकट, ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए सरकार ने की बड़ी डील

 

देश में अब नहीं होगा सांसों का संकट, ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए सरकार ने की बड़ी डील

देश के अस्‍पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी जल्‍द दूर होने वाली है । रक्षा मंत्रालय की ओर से जर्मनी के साथ डील की गई है, जिसके तहत 23 मोबाइल ऑक्सीजन प्लांट को भारत एयरलिफ्ट करेगा । इस एक प्लांट से एक मिनट में 40 लीटर ऑक्सीजन और हर घंटे 2400 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन करता है। अधिकारियों ने जानकारी दी कि इन प्लांट को आर्म्ड फोर्स मेडिकल सर्विस (AFMS) के हॉस्पिटल में स्थापित किया जाएगा ।

जर्मनी से कब तक आएंगे प्लांट?
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ऑक्सीजन प्लांट एक हफ्ते के अंदर आ सकते हैं, हालांकि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि भारतीय वायु सेना को जर्मनी से प्लांट लाने के लिए विमान को तैयार रखने के लिए कहा गया है। जर्मनी से ऑक्सीजन प्लांट की खरीद को लेकर रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ए भारत भूषण बाबू ने जानकारी देते हुए कहा कि प्लांट एएफएमएस अस्पतालों में सीओवीआईडी -19 रोगियों के इलाज के लिए तैनात किए जाएंगे। इन्हें एक हफ्ते के अंदर एयरलिफ्ट किया जा सकता है।

सिंगापुर, UAE से ऑक्सीजन टैंकर मंगाने की तैयारी
वहीं देश में ऑक्‍सीजन संकट से पार पाने के लिए केंद्र सरकार ने एक नया फैसला किया है. जिसके तहत अब केंद्र सरकार सिंगापुर और UAE से उच्च क्षमता वाले आक्सीजन टैंकर मंगाने जा रही है । इसके लिए गृह मंत्री अमित शाह ने आदेश दे दिए हैं । सरकार विदेशों से ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट मंगवाने की पूरी तैयारी कर चुकी है, इन्हें लाने का जिम्मा रक्षा मंत्रालय ने उठाया है । वहीं पीएम भी हालात पर नजर रखे हुए हैं ।

बंद ऑक्सीजन प्लांट चालू करने के आदेश
इसके साथ ही, गृह मंत्री अमित शाह  ने राज्यों को उत्पादन बढ़ाने के लिए बंद पड़ी ऑक्सीजन यूनिट्स  को दोबारा शुरू करने के निर्देश दिए हैं । ताकि जल्द से जल्द देश में ऑक्सीजन संकट पूरी तरह दूर हो सके, आदेश दिए गए हैं कि प्रशासन इस बात को सुनिश्चित करे कि किसी भी मरीज की जान ऑक्सीजन की कमी की वजह से न जाए।

No comments:

Post a Comment