उत्तराखंड बीजेपी में घमासान, पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत के बयान पर बवाल! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Saturday, April 3, 2021

उत्तराखंड बीजेपी में घमासान, पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत के बयान पर बवाल!


उत्तराखंड बीजेपी में घमासान, पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत के बयान पर बवाल!

 कभी अपने ही नेताओं के खिलाफ बयानबाजी के लिये बीजेपी कांग्रेस पर चुटकी लेती थी, लेकिन इन दिनों बीजेपी में भी कुछ ऐसे ही हालात हो गये हैं, लगे हाथ कांग्रेस भी मौके का फायदा उठा रही है, 4 साल तक बिना अवरोध राज करने वाली बीजेपी सरकार में नेतृत्व परिवर्तन के बाद उथल-पुथल मची हुई है, त्रिवेन्द्र सिंह रावत के खुद के साथ अभिमन्यु की तरह छल होने, पांडव तथा पश्चताप ना कर कौरवों का प्रतिकार करने वाले बयान के बाद पार्टी के भीतर ही त्रिवेन्द्र रावत के खिलाफ खुलकर बयानबाजी शुरु हो गई है, गुरुवार को त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने पौड़ी में बयान दिया कि राजनीति में हमें बड़ा दिल लेकर चलना चाहिये।

हरक सिंह रावत का जवाब
पूर्व सीएम के इस बयान पर विपक्ष के बजाय जो पहला जवाब आया, वो सत्तारुढ दल के ही कैबिनेट मंत्री की ओर से आया, कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने कहा कि कौन आज शिक्षा दे रहा है, बड़ा दिल करने की, जिनका खुद का दिल संकुचित है, हरक सिंह ने कहा कि ये दुर्भाग्य है कि हम लोग उपदेश तो देते हैं, कि दिल बड़ा बनाओ लेकिन कई बार हमरा खुद का दिल बड़ा नहीं होता।

सीधा निशाना
हरक सिंह रावत का सीधा निशाना बयान देने वाले अपनी ही पार्टी के पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत पर था, सत्तापक्ष में घमासान हो, तो भला विपक्ष कैसे चुप बैठ सकता है, कांग्रेस इस पर खुलकर चटकारे ले रही है, कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि ये बीजेपी का अंदरुनी मामला है, लेकिन आप देखते रहिये, धीरे-धीरे सारी चीजें सामने आएगी, कौरव भी बीजेपी में भरे पड़े हैं।

विपक्ष ले रही चटकारे
दरअसल मंत्री हरक सिंह रावत उन मंत्रियों में शामिल हैं, जिन्हें त्रिवेन्द्र सरकार में कभी उचित सम्मान नहीं मिला, अपने बेबाक बयानों के लिये सुर्खियों में रहने वाले हरक सिंह रावत चाहकर भी कभी फुल फॉर्म में नहीं आ पाये, त्रिवेन्द्र के साथ हरक सिंह रावत की सीएम रहते कभी पटरी नहीं बैठी, कई मौकों पर दोनों के बीच विवाद भी सामने आये, अब त्रिवेन्द्र की विदाई के साथ हरक खुलकर बोल रहे हैं, तो विपक्ष भी खूब चटकारे ले रहा है।

No comments:

Post a Comment