भ्रम-संकट में थे आनंद पीरामल, ससुर मुकेश अंबानी ने दिखाई राह, जानिये किस चीज ने बदल दी जिंदगी! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Wednesday, April 7, 2021

भ्रम-संकट में थे आनंद पीरामल, ससुर मुकेश अंबानी ने दिखाई राह, जानिये किस चीज ने बदल दी जिंदगी!

 

भ्रम-संकट में थे आनंद पीरामल, ससुर मुकेश अंबानी ने दिखाई राह, जानिये किस चीज ने बदल दी जिंदगी!

पीरामल इंटरप्राइजेज के चेयरमैन अजय पीरामल के बेटे आनंद को भ्रम संकट के दौर में ससुर मुकेश अंबानी ने राह दिखाई थी, ये बात तब की है, जब उनकी शादी ईशा अंबानी से नहीं हुई थी, यानी उस समय आनंद पीरामल मुकेश अंबानी के होने वाले दामाद थे।

आनंद ने किया खुलासा
महाराष्ट्र के मुंबई में एक कार्यक्रम के दौरान आनंद पीरामल ने खुद इस बात का खुलासा किया था, कि उलझन के उस दौर में आरआईएल चेयरमैन ने उन्हें सलाह दी थी, इसी कार्यक्रम में आनंद ने ससुर को शुक्रिया भी कहा, कार्यक्रम में उन्होने बताया था कि मैं कंसल्टेशन और बैंकिंग में से किसी एक में जाने को लेकर भ्रमित था, पर उस दौरान मैंने मुकेश अंबानी की सलाह मानी, बताया जाता है कि मुकेश ने उन्हें लंबी अवधि में उद्यमी बनने और तुरंत शुरुआत करने की सलाह दी थी।

जिंदगी बदल दी
2019 में एक कार्यक्रम में बोलते हुए आनंद पीरामल ने इस बात का जिक्र किया था, उन्होने बताया कि उस वाकये ने जिंदगी बदल दी, वो इटली से बहुत प्रभावित थे, वो अपने प्रोफेसर के साथ समुद्र तट पर थे, आनंद उन्हें वहां की संस्कृति के बारे में बता रहे थे, तभी प्रोफेसर ने आनंद को सलाह दी, कि पश्चिमी देशों के गुण गाने के बजाय अपने देश लौटे और वहां के लिये काम करो, मैंने उसके बाद फैसला लिया, कि मुझे भारत वापस लौटना है, देश के विकास के लिये कुछ करना है। आनंद मौजूदा समय में पीरामल ग्रुप के एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर हैं, साथ ही पीरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड में गैर-कार्यकारी निदेशक हैं, वो इसके अलावा पीरामल रिएलिटी के संस्थापक हैं।

हार्वर्ड से पढाई
कंपनी के रियल एस्टेट कारोबार के लिये वहीं जिम्मेदार हैं, उन्होने पिता के कारोबार में कदम रखने से पहले एक स्टार्ट-अप की शुरुआत की थी, जिसका नाम पीरामल ई-स्वास्थ्य है, ये हेल्थ केयर क्षेत्र के लोकतंत्रीकरण के मकसद से बनाया गया था। आनंद पीरामल पेंसिलवेनिया विवि से ग्रेजुएट हैं, इसके बाद उन्होने हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से एमबीए किया है, वो इंडियन मर्चेंट चेंबर की यूथ विंग में सबसे युवा अध्यक्ष रहे हैं।

No comments:

Post a Comment