हद कर दी, पंचायत चुनाव के लिए शख्स ने तोड़ा आजीवन ब्रह्मचर्य व्रत, शादी तक रचा ली

 

हद कर दी, पंचायत चुनाव के लिए शख्स ने तोड़ा आजीवन ब्रह्मचर्य व्रत, शादी तक रचा ली

पंचायत चुनाव को लेकर उत्‍तर प्रदेश में उम्‍मीदवार अपने – अपने क्षेत्र में जोरों से प्रचार में जुटे हुए हैं । सियासी समीकरण बैठा रहे उम्‍मीदवार वो सब कुछ करने को तैयार हैं जो उन्‍हें सत्‍ता की कुर्सी दिला दें । कुछ ऐसा ही मामला बलिया में सामने आया है, जहां एक शख्स ने पंचायत चुनाव लड़ने के लिए आजीवन ब्रह्मचर्य का पालन करने का व्रत ही तोड़ दिया और शादी रचा ली । इसके पीछे का कारण और हैरान करने वाला है ।

शादी का मुहूर्त तक नहीं निकाला
चौंकाने वाला ये मामला जिले के मुरली छपरा ब्लाक के शिवपुर करन छपरा ग्राम पंचायत का है । यहां हाथी सिंह नाम के एक शख्‍स ने आजीवन अविवाहित रहने का संकल्प लिया था लेकिन ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ने के लिए उसने इस व्रत को तोड़ते हुए शादी रचा ली । इस शख्‍स को युवक ने ग्राम प्रधानी हासिल करने की ऐसी तमन्ना जगी कि उसने शादी के लिए मुहूर्त तक नहीं निकाला ।

क्‍यों की शादी ?
अब आप कहेंगे कि इस शख्‍स को शादी करने की जरूरत क्‍यों पड़ी, चुनाव तो बिना शादी के भी लड़ा जा सकता है । दरअसल इसकी वजह है, इस क्षेत्र में ग्राम प्रधान पद महिला के लिए आरक्षित हुआ है । यही वजह है कि इस शख्‍स ने पहले शादी की, और अब उसकी पत्‍नी प्रधान पद की प्रत्याशी है । अब इस घटना की चर्चा पूरे इलाके में हो रही है ।

सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में कर रहे थे काम
हाथी सिंह नाम का ये शख्‍स लंबे अरसे से सामाजिक कार्यकर्त्ता के रूप में काम कर रहा है, समाजसेवा के चलते ही उन्होंने विवाह न करने का भी संकल्प कर रखा था । साल 2015 के पंचायत चुनाव में हाथी सिंह ने ग्राम प्रधान पद के लिए चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें तब 57 वोटों से हार का सामना करना पड़ा । वो एक बार फिश्र चुनाव लड़ने और जीत हासिल करने की उम्मीद लगाए हुए थे, लेकिन आरक्षण सूची ने उनकी सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया । फिर किसी ने उन्‍हें राय दी कि वो विवाह कर पत्नी को चुनाव लड़ाएं । जिसके बाद उन्होंने बिना मुहूर्त के ही आनन-फानन में एक युवती से बिहार की अदालत में कोर्ट मैरिज कर ली । फिर 26 मार्च को शादी भी कर ली।
ग्रेजुएट है लड़की
हाथी सिंह की पत्‍नी ने स्नातक की पढ़ाई की हुई है, शादी के बाद हनीमून पर जाने की बजाय वो पंचायत चुनाव के प्रचार में जुट गए हैँ । 13 अप्रैल को बलिया में पंचायत चुनाव का नामांकन होना है, जिसमें हाथी सिंह अपनी पत्नी का भी नामांकन कराएंगे ।

0/Post a Comment/Comments