हर किमी. का बंधा हुआ था रेट, EMI पर लेती थीं रिश्‍वत, SDM पिंकी मीणा को लेकर अब हर रोज नए खुलासे - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Thursday, March 25, 2021

हर किमी. का बंधा हुआ था रेट, EMI पर लेती थीं रिश्‍वत, SDM पिंकी मीणा को लेकर अब हर रोज नए खुलासे

 

हर किमी. का बंधा हुआ था रेट, EMI पर लेती थीं रिश्‍वत, SDM पिंकी मीणा को लेकर अब हर रोज नए खुलासे

राजस्‍थान के दौसा में 10 लाख रुपए की रिश्वत मांगने के आरोप में जेल गई एसडीएम पिंकी मीणा फिलहाल जमानत पर बाहर हैं, लेकिन अब उन्‍हें लेकर हर रोज ही चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं । जांच में पता चला है कि वह कंपनी से हर किलोमीटर के लिए एक लाख रुपए लेने की डिमांड किया करती थीं । इतना ही नहीं इस घूस की रकम के लिए पिंकी ने किश्‍त बना रखी थी । रकम की राशि वह आए दिन बढ़ाती जा रही थी । पिंकी मीणा को पिछले शुक्रवार को ही 65 दिन के बाद जमानत मिली है ।

4 हजार पन्नों की चार्जशीट दाखिल
दरअसल, पिंकी मीणा को लेकर ये खुलासा ACB कोर्ट में दायर की गई 4 हजार पन्नों की चार्जशीट से हुआ है। रिपोर्ट में बताया गया है कि वो प्रति किलोमीटर के लिए एक लाख रुपए की घूस लेती थीं, इस दौरान पिंकी मीणा ने 6 महीने तक किसानों का मुआवजा भी अटकाए रखा। जिससे कंपनी पर घूस देने के लिए दबाव बन जाए। दरअसल नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के भारतमाला प्रोजेक्ट के लिए जमीन अधिग्रहण से जुड़ा मामले को पिंकी मीणा देख रही थी।

मुआवजा रोके रखा
पिंकी मीणा के अंडर चल रहे इस प्रोजेक्ट में आने वाले किसानों को मुआवजा मिलना था, रिपोर्ट में बताया गया कि यह पैसा शासन से प्रशासन को मिल चुका था । लेकिन इसके बाद भी पिंकी ने यह पैसा रोक रखा था । इसके बाद ही हाईवे कंपनी को जमीन पर कब्जा दिलाना था।

65 दिन बाद मिली जमानत
करीब ढाई महीने पहले पिंकी मीणा को कंपनी से 10 लाख रुपए की रिश्वत मांगने के मामले में गिरफ्तार किया था। जयपुर मुख्यालय से दौसा गई एसीबी की टीम ने एसडीएम दौसा आएस पुष्कर मित्तल को भी 5 लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया था। इसके बाद से पिंकी मीणा 14 जनवरी से जेल में थीं । शादी के लिए बीच में उनको 10 दिन की अंतरिम जमानत मिली थी, जिसके बाद उन्‍ळोंने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था । अब एक बार फिर उन्‍हें जमानत मिल गई है ।

No comments:

Post a Comment