एक Consulate या जासूसी केंद्र? दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में स्थित चीनी दूतावास विवादों के घेरे में - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Wednesday, March 3, 2021

एक Consulate या जासूसी केंद्र? दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में स्थित चीनी दूतावास विवादों के घेरे में

 


पिछले वर्ष जुलाई में अमेरिकी सरकार ने ह्यूस्टन में एक चीनी कॉन्सुलेट को बंद करने का आदेश जारी किया था, क्योंकि अमेरिकी सरकार के मुताबिक चीनी सरकार उसे एक “जासूसी केंद्र” के रूप में इस्तेमाल कर रही थी। ठीक इसी प्रकार दुनियाभर में चीन के दूतावासों पर जासूसी करने के आरोप लगते रहे हैं। ऐसे ही आरोप अब ऑस्ट्रेलिया के दक्षिण ऑस्ट्रेलियाई राज्य की राजधानी Adelaide में स्थित एक चीनी Consulate पर लगाए जा रहे हैं, जिसके खिलाफ ऑस्ट्रेलिया के दो सीनेटर Rex Patrick और Alex Antic ने मोर्चा खोल दिया है और इसको लेकर ऑस्ट्रेलिया की स्कॉट मॉरिसन सरकार से कार्रवाई करने की मांग उठाई है।

दरअसल, Adelaide शहर के Joslin कस्बे में एक चीनी कॉन्सुलेट स्थित है, जिसने आसपास रहने वाले ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को पिछले काफी समय से परेशान किया हुआ है। आरोपों के मुताबिक रिहायशी इलाके के ठीक बीचों-बीच स्थित इस consulate में कार्यरत मजदूरों ने आसपास के घरों की fencing को क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके साथ ही इस consulate के चारों तरफ cameras लगाए गए हैं, जिनका मुंह सीधा आसपास मौजूद घरों की तरफ है। 5600 sq मीटर क्षेत्र में स्थित इस consulate ने आसपास की गलियों की ओर केन्द्रित कई Cameras को लगाया है, जिसके कारण अब वहाँ के लोग उस गली का इस्तेमाल करने से भी हिचकिचाते हैं।

सीनेटर Patrick के मुताबिक चीनी सरकार इस consulate को जासूसी गतिविधियों के लिए इस्तेमाल करती है। उनके मुताबिक “इस consulate में 12 लोगों को तैनात करने की क्या ज़रूरत है, जब कम में भी काम चल सकता है। इस consulate का ऑस्ट्रेलिया की defense और Space capital में कोई काम नहीं है।” सीनेटर Antic के मुताबिक “मुझे इस consulate के आकार को लेकर कुछ चिंताएँ हैं, और मैं इस बात को विदेश मंत्री Payne के साथ भी उठाऊंगा।”

ऑस्ट्रेलियाई सांसदों की ये चिंताएँ इसलिए भी जायज़ हैं क्योंकि उसी इलाके में ग्रीस और इटली जैसे देशों के Consulate भी मौजूद हैं, लेकिन उनके यहाँ कम लोग ही कार्यरत हैं। इसके साथ ही Adelaide को ऑस्ट्रेलिया की Space और Defense capital भी कहा जाता है। पिछले वर्ष ही Adelaide में ऑस्ट्रेलिया की स्पेस एजेंसी ने अपना Headquarter स्थापित किया था। पिछले वर्ष दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के Premier Steven Marshall ने कहा था कि स्पेस एजेंसी के headquarter की स्थापना के बाद बेशक अब Adelaide ऑस्ट्रेलिया की स्पेस कैपिटल बन चुका है।

अब जब दक्षिण ऑस्ट्रेलिया की चीनी consulate पर जासूसी करने का आरोप लगाए जा रहे हैं, तो उम्मीद है कि स्कॉट मॉरिसन इसको लेकर कुछ अहम कदम उठा सकते हैं। स्कॉट मॉरिसन की सरकार पिछले वर्ष से ही अपने यहाँ चीन के  प्रभाव को कम करने के लिए कई कदम उठा रही है। सूत्रों के मुताबिक मॉरिसन सरकार जल्द ही ऑस्ट्रेलिया के Victoria राज्य में चल रहे BRI प्रोग्राम को भी रद्द कर सकती है। इसके साथ ही ऑस्ट्रेलियाई सरकार Quad जैसे अंतर्राष्ट्रीय संगठनों में अपनी सक्रिय भूमिका निभाकर चीनी प्रभाव को कम करने की कोशिशों में जुटी है। ऑस्ट्रेलिया और चीन पहले ही कोरोना की उत्पत्ति को लेकर पिछले वर्ष से ही तनाव की स्थिति में हैं और दोनों के बीच पिछले काफी समय से ट्रेड वॉर देखने को मिल रही है। ऐसे में अब अगर इस consulate के मुद्दे पर ऑस्ट्रेलियाई सरकार कोई कार्रवाई करने का फैसला लेती है तो इससे दोनों देशों के रिश्तों में और तनाव देखने को मिल सकता है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment