परमबीर सिंह के बाद अब जा सकती है गृहमंत्री अनिल देशमुख की कुर्सी, खतरे में उद्धव सरकार? - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Saturday, March 20, 2021

परमबीर सिंह के बाद अब जा सकती है गृहमंत्री अनिल देशमुख की कुर्सी, खतरे में उद्धव सरकार?


परमबीर सिंह के बाद अब जा सकती है गृहमंत्री अनिल देशमुख की कुर्सी, खतरे में उद्धव सरकार?

 मुंबई में मुकेश अंबानी के आवास के बाहर कार में विस्फोटक और स्कॉर्पियो मालिक मनसुख हिरेन की मौत के मामले में उद्धव सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। कहा जा रहा है कि जल्द ही उद्धव सरकार के गृह मंत्री अनिल देशमुख को हटा सकते हैं, बताया जा रहा है कि इस पूरे मामले में एनसीपी प्रमुख शरद पवार काफी नाराज हैं, उन्होने अनिल देशमुख को मुलाकात के लिये दिल्ली बुलाया है। इससे पहले सचिन वझे के मामले में मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को हटाया जा चुका है, उनकी जगह हेमंत नागराले को नया कमिश्नर नियुक्त किया गया है।

बैकफुट पर उद्धव सरकार
एंटीलिया केस तथा मनसुख हिरेन हत्या मामले में एनआईए और महाराष्ट्री एटीएस टीम जांच कर रही है, इस केस में सचिन वझे के शामिल होने से मुंबई पुलिस पर सवालिया निशान खड़े हुए हैं, ऐसे में विपक्ष खासकर बीजेपी लगातार उद्धव सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रही है, ऐसे में सरकार अपनी छीछालेदर को देखते हुए अनिल देशमुख को हटा सकती है।

इन वजहों से गिर सकती है गाज
जिस तरह से एंटीलिया केस में सचिन वझे का नाम आया है, उसे देखते हुए एनसीपी प्रमुख शरद पवार काफी सख्त हैं, वो इस मामले में सीएम उद्धव ठाकरे से मुलाकात भी कर चुके हैं, उन्हें लगता है कि सरकार इस मामले में बैकफुट पर आ गई है, ऐसे में इसका जिम्मेदार वो गृह मंत्री अनिल देशमुख को मान रहे हैं। ये भी कहा जा रहा है कि इस मामले में मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र गृह मंत्रालय की काफी बदनामी हुई है, देश और दुनिया के सामने इसे लेकर अच्छा उदाहरण नहीं गया है, ऐसे में देशमुख पर इस्तीफे की तलवार लटक रही है। गृह मंत्रालय की अहमियत को देखते हुए शऱद पवार को ऐसा लगता है कि अनिल देशमुख इसका जिम्मा ठीक से नहीं उठा रहे हैं, उन्हें लगता है कि देशमुख का इस मामले में मनोबल काफी गिर गया है, ऐसे में उनकी जगह जयंत पाटिल को नया गृह मंत्री बनाया जा सकता है।

सामान्य रही मुलाकात- देशमुख
इस पूरे मामले की गंभीरता को समझते हुए एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने अनिल देशमुख को मुलाकात के लिये दिल्ली बुलाया है, मुलाकात के बाद अनिल देशमुख ने इसे सामान्य बैठक कहा, उन्होने कहा कि एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन के मामले में शरद पवार को जानकारी दी गई है, इसके अलावा एक विदेशी कंपनी के नागपुर में निवेश को लेकर पवार से मदद मांगी गई है।

No comments:

Post a Comment