हनुमान भक्ति में डूबा मुस्लिम युवक बना हिन्दू, जानें क्या है वजह

 

भक्ति में बहुत शक्ति होती है और बार बार ये बात हर जगह सिद्ध हो जाती है। ऐसा ही एक मामला गोंडा से सामने आया है, जहां एक युवक हनुमान जी की भक्ति में डूब गया है। आप सोच रहे होंगे इसमें खास बात क्या है, लेकिन इसमें खास बात ये है कि ये कोई हिन्दू धर्म का इंसान नहीं था बल्कि इस्लाम धर्म का था। इस व्यक्ति ने अपने इस्लाम धर्म छोड़ दिया और हिन्दू धर्म स्वीकार लिया  है। अब वो दिन रात बजरंगबली की सेवा भक्ति  में डूबा रहता है। ये किस्सा तब देखने को मिला जब जब पुलिस के एक रिटायर दरोगा ने गांव में हनुमान जी का मंदिर बनवाया। जब से मंदिर बना है इस गांव के लोगों में काफी परिवर्तन देखने को मिला है इतना ही नहीं कच्ची शराब के नशे में  धुत रहने वाले युवा व बुजुर्ग भी नशा छोड़ दिया और अब हनुमान जी भक्ति में लीन रहते हैं।

ये मामला गोंडा के परसपुर के लायकपुरवा गांव का है, जहां के सारे गांववाले हनुमान जी की भक्ति में डूब चुके हैं। हिन्दू भक्तों के अलावा इस्लाम धर्म का मोहम्मद अनीस भी हनुमान भक्त बन चुका है और उनकी भक्ति में डूब चुके हैं। उन्होंने ना सिर्फ अपना धर्म परिवर्तन किया है बल्कि वो अनीस से शुक्राचार्य बन गया है। जैसे ही अनीस ने हनुमान जी के दर्शन किए तो उनके मन में पॉजिटिव चेंजेस आ गए और उन्होंनें दुनियां भर की समस्त बुराइयों का त्याग कर दिया। अब वो शुक्राचार्य बन गये है और हनुमान जी की सेवा में ही लीन रहते हैं।

दिन भर वो भगवान हनुमान की भक्ति करते है और आरती गाते रहते हैं। उन्होंने कहा कि जिस दिन से वो हनुमान जी शरण में आए हैं तब से उनका समय बदल गया हैं। उनके परिवार में खुशहाली आ गईं हैं। जब से उन्होंने अपना धर्म परिवर्तन करने का सोचा वो खुश है। उनके इस फैसले का किसी ने विरोध भी नहीं किया। परिवार और समाज दोनों का ही अनीस को  सपोर्ट मिला। योगीराज कुँवरनाथ ने गांव के लोगों में भक्ति का दीपक जला गया।

ये पहले पुलिस दारोगा थे। इनकी आखिरी पोस्टिंग अयोध्या में थी, जहां उनमे हनुमान जी कि भक्ति की भावना जागी। रिटायर होने पर उनको जो राशि मिली। उसका प्रयोग उन्होंने गांव में मंदिर बनाने में किया। एक ओर जहां गांव के लोग शराब में धुत रहते थे वो सब अब मंदिर बनने के बाद बदल गये और हनुमान भक्ति में लीन रहने लगे।

0/Post a Comment/Comments