फिल्म के चक्कर में बिक गया गोविंदा का बंगला, मां का हाल देख फूट-फूटकर रोने लगे थे एक्टर! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Thursday, March 25, 2021

फिल्म के चक्कर में बिक गया गोविंदा का बंगला, मां का हाल देख फूट-फूटकर रोने लगे थे एक्टर!

 

फिल्म के चक्कर में बिक गया गोविंदा का बंगला, मां का हाल देख फूट-फूटकर रोने लगे थे एक्टर!

बॉलीवुड में अपने डांस, स्टाइल और एक्टिंग के लिये जाने जाने वाले गोविंदा ने हाल ही में एक इंटरव्यू में ये बताया कि बॉलीवुड़ में कुछ लोग हैं, जिन्होने उनके करियर को बर्बाद करने की कोशिश की, उन्होने बताया कि उनकी फिल्मों को रिलीज नहीं होने दिया गया, जिस वजह से उन्हें करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ा, गोविंदा के पिता भी एक एक्टर थे, और एक जमाने में फिल्मों के चक्कर में ही उनका बंगला बिक गया था।

पिता को बेचना पड़ा बंगला
गोविंदा के पिता अरुण आहूजा एक एक्टर थे और उन्होने लगभग 40 फिल्मों में काम किया, बाद में उन्होने एक फिल्म बनाने की सोची, जो बुरी तरह फ्लॉप रही, govinda parents1इस फिल्म के गोविंदा के पिता ने अपने सारे पैसे लगा दिये थे,  जब फिल्म फ्लॉप हुई, तो उन्हें भारी नुकसान हुआ, गोविंदा ने सिमी ग्रेवाल के शो में बताया था कि कार्टर रोड पर उनका एक बंगला था, जिसे पिता को बेचना पड़ा, परिवार को किसी और जगह पर शिफ्ट होना पड़ा था, इसके बाद परिवार में मुश्किलों का दौर शुरु हो गया था।

मां को देख रोने लगे थे गोंविदा
गोंविदा अपनी मां के बेहद करीब थे, उनके कष्टों को देखकर ही उन्होने सोच लिया, कि किसी भी तरह वो अपनी मां को कष्टों को दूर करेंगे, उनकी मां निर्मला देवी क्लासिकल आर्टिस्ट थीं और वो अपने बच्चों के लिये बहुत मेहनत करती थीं, एक बार ऐसी घटना हुई जिसने गोविंदा को बहुत उद्वेलित किया था, उन्होने बताया था कि एक बार मम्मी को छोड़ने के लिये मैं खार रेलवे स्टेशन गया था, महिला विभाग में भी बहुत भीड़ थी और औरतें भी लटककर सफर कर रही थीं। एक्टर ने कहा वो उन महिलाओं से कहती, कि बेटी मुझे अंदर ले लो प्लीज, लेकिन उन्हें जगह नहीं मिली, इस तरह 5 ट्रेन चली गई, लेकिन वो चढ नहीं पाई, तो मम्मी ने कहा, हां ये भी छूट गई, बड़ा कठिन हो गया चीची (गोविंदा को घर वाले इसी नाम से बुलाते थे), मैं उनकी बात सुन रोने लगा, मैंने मां से कहा, आप 10 मिनट रुकिये।

सफल एक्टर बने
गोविंदा ने बताया कि वो रोते-रोते अपने मामा के घर गये, उनसे पैसे लेकर आये, उन पैसों से उन्होने मां के लिये फर्स्ट क्लास की टिकट खरीदी, गोविंदा ने बताया कि इस घटना के बाद वो जिंदगी में बहुत जूनूनी हो गये थे और Govindaएक सफल एक्टर बने। गोविंदा ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत 1986 में रिलीज फिल्म इल्जाम से किया, इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा, उन्होने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया।

No comments:

Post a Comment