वास्तु के अनुसार घर के इस कोने में होना चाहिए तुलसी का पौधा, जानें सही दिशा - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Tuesday, March 9, 2021

वास्तु के अनुसार घर के इस कोने में होना चाहिए तुलसी का पौधा, जानें सही दिशा


हिन्दू धर्म(Hindu religion) में तुलसी(Basil) को बहुत महत्व दिया जाता है। तुलसी को लोग आस्था और श्रृद्धा का प्रतीक मानते हैं। लोग तुलसी माता की पूजा भी करते हैं। यही कारण है कि आप किसी भी घर को बिना तुलसी मां के नहीं पाएंगे, लेकिन क्या आप जानते है कि तुलसी के पौधे को किस तरह लगाना सही होता है? आज के इस आर्टिकल में बताएंगे कि वास्तु के अनुसार घर में तुलसी का पौधा कहां लगाना चाहिए।

कहां रखे तुलसी का पौधा

घर के आंगन में लोग तुलसी के पौधे को लगाते है। यही तलसी मां का सहीं स्थान है। घर में जो भी केंद्र बिन्दु हो या घर की पूर्वोत्तर या उत्तर दिशा में तुलसी का पौधा लगाना चाहिए। इन दिशाओं में ईश्वर के वास को माना जाता है। इन जगहों पर तुलसी लगाना काफी शुभ माना जाता है। इस जगह के लगाने के अलावा तुलसी को घर की खिड़की के पास उत्तर या उत्तर पूर्व दिशा की ओर भी लगा सकते हैं। ऐसा कहा जाता है कि तुलसी के पास कभी भी काटेंनुमा पौधे नहीं रखने चाहिए।

वास्तुशास्त्र में उत्तर-पूर्व दिशा को धन के देवता कुबेर की दिशा कहा जाता है ऐसे में अगर आर्थिक समृद्धि पानी है तो तुलसी को उत्तर-पूर्व दिशा में ही लगाना चाहिए। प्रतिदिन तुलसी के पौधे की पूजा करनी चाहिए। कहा जाता है कि तुलसी के पौधे में अगर आप शाम को दीपक जलाते हैं, तो उससे महालक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहती है। सभी तरह के वास्तुदोषों को एक तुलसी का पौधा खत्म कर देता है। तुलसी के पौधा जिस जगह में लगा हो, वहां पर साफ सफाई का जरूर ध्यान रखना चाहिए।

एकादशी, रविवार और चंद्रग्रहण के दिन कभी भी तुलसी की पत्ती को ना तोड़े। अगर आप ऐसा करते है, तो दोष लगता है। तुलसी का सेवन करके रोग प्रतिरोधक शक्ति क्षमता बढ़ाई जाती है। तुलसी का पौधा सूखने पर उसे नदी या पास के कुँए में डाले या फिर उसी गमले की मिट्टी में ही दबा देना चाहिए।

तुलसी का पौधे के आस-पास कूड़ा या डस्टबिन नहीं होना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि तुलसी को देवतुल्य माना जाता है। वास्तु की दृष्टि से भी तुलसी शुभ मानी जाती है, जिसे घर में लगाने से सारे वास्तुदोष खत्म हो जाते हैं।

No comments:

Post a Comment