गर्मियों में इन 5 बीमारियों के होने का खतरा ज्यादा, जानें-लक्षण और बचाव - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Thursday, March 18, 2021

गर्मियों में इन 5 बीमारियों के होने का खतरा ज्यादा, जानें-लक्षण और बचाव

 

गर्मियों में इन 5 बीमारियों के होने का खतरा ज्यादा, जानें-लक्षण और बचाव

गर्मियों के मौसम में तेज धूप और बढ़ते तापमान से सभी असहज महसूस करने लगते हैं, बढ़ता पारा अपने साथ कई बीमारियों की मुसीबत भी लेकर आता है । गर्मियों बाहर आने-जाने से, कड़ी धूप का असर बॉडी, स्किन, आंखों और पाचन तंत्र पर भी पड़ने लगता है । इस मौसम में की गई जरा सी लापरवाही आप पर भारी पड़ सकती है । आगे जानें उन बीमरियों के बारे में जो गर्मियों के मौसम में जाने-अनजाने हो ही जाती हैं । लेकिन सावधानी के साथ इनसे बचा जरूर जा सकता है ।

हीट स्ट्रोक
हीट स्ट्रोक यानी लू लगना, गर्मियों की ये सबसे आम बीमारी है । तेज धूप में बहुत समय तक रहने से आपको लू लग सकती है । समय पर इलाज ना किया जाए तो ये बीमारी बिगड़ भी जाती है । लू लगने पर सिर दर्द, कमजोरी, बेहोशी के साथ कई गंभीर मामलों में ऑर्गन फेल तक हो सकता है । ऐसे में सावधानी रखें, अपने शरीर को ठंडा रखें, खान-पान पर ध्यान दें, खूब सारा पानी पिएं और बॉडी को हमेशा हाइड्रेटेड रखें ।

फूड प्वाइजनिंग
गर्मियों में फूड प्वाइजनिंग सबसे आम बीमारियों में से एक है । दूषित खाने या फिर पानी की वजह से होने वाली इस समस्‍या का कारण है गर्मी और उमस में बैक्टीरिया का आसानी से पनपना । बना हुआ खाना कुछ समय बाद भी खराब हो सकता है । इसे खाने पर पेट दर्द, मितली, दस्त या फिर उल्टी होने लगती है । इससे बचने के लिए कच्चा मांस, सड़क किनारे मिलने वाला खाना और खुली चीजें खाने से बचें ।

डिहाइड्रेशन
गर्मियों के मौसम में शरीर में पानी की कमी होने से डिहाइड्रेशन हो जाता है । शरीर से बहुत पसीना बहता है, जिसकी वजह से पानी की कीम हो सकती है । ऐसे में गर्मियों में पानी और लिक्विड भरपूर मात्रा में लेते रहे ।
घमौरी
गर्मियों में पसीने के चलते त्‍वचा पर नमी रहती है, जिसकी वजह से घमौरी होना बहुत आम है । शरीर पर लाल या गुलाबी से दाने होने लगते हैं । घमौरियां छोटे बच्चों को बहुत जल्दी हो जाती हैं, ऐसे में त्‍वचा को ड्राई रखना जरूरी है ।

चेचक – खसरा
दो और बहुत आम लेकिन खतरनाक बीमारियां है चेचक और खसरा की । इन्‍हें चिकनपॉक्स और मीजल भी कहा जाता है । दोनों ही बीमरियां गर्मी में होती हैं, चेचक में जहां पूरे शरीर में खुजली, फफोले, लाल दाग, तेज बुखार, भूख ना लगना और सिर दर्द रहता है तो पहीं खसरे में तेज बुखार, खांसी, नाक बहना, गले में खराश और आखों का लाल हो जाना है । बीमारी बढ़ जाने पर रैशेज, दाने और मुंह के अंदर छोटे सफेद धब्बे हो जाते हैं । ये बीमारी बच्‍चों में ज्‍यादा देखी जाती है । अब इस बीमारी के वैक्‍सीन लगवाए जाते हैं । लेकिन कई बार एडल्‍ट भी इसकी चपेट में आ जाते हैं  ।

No comments:

Post a Comment