48 हजार की सैलरी में बना ली करोड़ों की संपत्ति, टीचर के घर पड़ा छापा तो अफसर भी दंग - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Thursday, March 18, 2021

48 हजार की सैलरी में बना ली करोड़ों की संपत्ति, टीचर के घर पड़ा छापा तो अफसर भी दंग

 

48 हजार की सैलरी में बना ली करोड़ों की संपत्ति, टीचर के घर पड़ा छापा तो अफसर भी दंग

मध्य प्रदेश के बैतूल से बड़ा ही हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है । यहां लोकायुक्त की टीम जब एक सरकारी प्राइमरी स्कूल टीचर के घर छापा मारने पहुंची तो दंग रह गई । टीम की छानबीन में कुछ हजारों रुपए कमाने वाला ये सरकारी प्राइमरी स्कूल टीचर असल में करोड़ों की संपति का मालिक निकला । दरअसल, आय से अधिक संपत्ति की एक शिकायत मिलने पर मंगलवार को टीचर के घर पर लोकायुक्त की टीम पहुंची और रेड डाली ।

5 करोड़ की संपत्ति, नकद और खाते
टीम की जांच में इस टीचर के पास 5 करोड़ रुपये की संपत्तियों के दस्तावेज मिले हैं । साथ ही एक लाख रुपये नगद बैंक खाते और लॉकर की जानकारी मिली है । लोकायुक्त ने टीचर पंकज श्रीवास्तव, उसकी पत्नी और पिता के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है ।  बैतूल के बगडोना में एक आलीशान मकान में रह रहे पंकज श्रीवास्तव रेंगाढाना गांव में सरकारी प्राइमरी स्कूल में टीचर हैं और इनकी नियुक्ति 1998 में हुई थी ।

आय से अधिक संपत्ति
नियुक्ति के समय उसकी सैलरी 2 हजार रुपये थी, वर्तमान में परमानेंट टीचर होने के बाद 48 हजार रुपये सैलरी मिलने लगी । अब तक की नौकरी के कार्यकाल में इस टीचर ने कुल 38 लाख रुपये ही कमाए है । ऐसे में उनकी शान शौकत देखकर कोई भी गड़बड़झाले का अंदाजा लगा सकता था । हाल ही में पंकज श्रीवास्तव के खिलाफ लोकायुक्त में शिकायत की गई थी कि इनके पास आय से अधिक संपत्ति है । मिले दस्तावेजों से संपत्ति की कीमत पांच करोड़ आंकी गई है ।

जमानत पर रिहा
लोकायुक्त ने टीचर पंकज श्रीवास्तव और उनके पिता राम जन्म श्रीवास्तव के साथ ही पत्नी पर भ्रष्टाचार अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है, तीनों को गिरफ्तार कर फिलहाल जमानत पर रिहा कर दिया गया है और मामले की जांच शुरू कर दी गई है । लोकायुक्त टीआई सलिल शर्मा ने बताया कि जब टीचर के घर पर सर्चिंग की तो इस दौरान 25 संपत्तियों के दस्तावेज मिले हैं, जैसे- भोपाल में मिनाल रेजीडेंसी में डुप्लेक्स, समरधा में प्लॉट, पिपलिया में एक एकड़ भूमि, छिंदवाड़ा में 06 एकड़ भूमि, बैतूल में 08 आवासीय प्लाट, 06 दुकान बगडोना में और 10 अलग-अलग ग्रामों में कृषि भूमि कुल 25 एकड़ होना पाया गया है। फिलहाल मामले की जांच जारी है।

No comments:

Post a Comment