2 बेटी और 1 बेटे की मां है स्मृति ईरानी, शादीशुदा शख्स के साथ लिये थे 7 फेरे! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Wednesday, March 17, 2021

2 बेटी और 1 बेटे की मां है स्मृति ईरानी, शादीशुदा शख्स के साथ लिये थे 7 फेरे!

 

2 बेटी और 1 बेटे की मां है स्मृति ईरानी, शादीशुदा शख्स के साथ लिये थे 7 फेरे!

टीवी एक्ट्रेस से राजनेता बनीं स्मृति ईरानी की शादी को आज 20 साल पूरे हो गये हैं, स्मृति ने 16 मार्च 2001 को पारसी बिजनेसमैन से शादी की थी, आपका बता दें कि स्मृति ने अपने जन्मदिन 23 मार्च से हफ्ते भर पहले जुबिन ईऱानी को हमसफर बनाया था, स्मृति की वेडिंग एनिवर्सरी पर उनकी दोस्त और टीवी क्वीन एकता कपूर ने बधाई देते हुए कपल की एक तस्वीर पोस्ट की है, इस फोटो के साथ ही एकता ने लिखा, हैप्पी एनिवर्सरी लव बर्ड्स, इसके साथ ही एकता ने हार्ट इमोजी भी बनाये हैं, स्मृति फिलहाल एक्टिंग की दुनिया से दूर राजनीति में सक्रिय है और केन्द्र में मंत्री हैं।

पति को बधाई
अपनी एनिवर्सरी पर खुद स्मृति ईरानी ने एक पोस्ट करते हुए पति को बधाई दी है, दरअसल इंस्टाग्राम पर स्मृति ने पुरानी तस्वीरों से बनी एक वीडियो पोस्ट की है, जिसके बैकग्राउंड में बजते गाने के साथ स्मृति पति के साथ नजर आ रही हैं, इस वीडियो क्लिप को शेयर करते हुए उन्होने लिखा, दोस्ती, रोमांच और धमाल के 20 साल।

स्मृति के बच्चे
शादी के बाद स्मृति ईरानी के बेटे जोहर का जन्म 2001 में हुआ, तब वो क्योंकि सास भी कभी बहू थी, कि शूटिंग कर रही थी, फिर दो साल बाद 2003 में बेटी जोइश पैदा हुई। स्मृति की एक सौतेली बेटी भी है, दरअसल जुबिन ने स्मृति से पहले मोना ईरानी से शादी की थी, मोना से उन्हें शनेल नाम की एक बेटी है, जो अमेरिका के जॉर्जटाउन यूनिवर्सिटी से लॉ की पढाई कर रही हैं।

गरीबी में बीता बचपन
पंजाबी पिता और असमिया मां की बेटी स्मृति के घर की आर्थिक हालत ठीक नहीं थी, पिता कुरियर कंपनी चलाते थे, स्कूल की पढाई के बाद स्मृति ने कॉरसपोडेंस से बीकॉम की पढाई शुरु की, लेकिन पूरी नहीं कर सकी। पिता की मदद के लिये वो दिल्ली में ब्यूटी प्रोडक्ट्स की मार्केटिंग करने लगी, इसी दौरान उन्हें किसी ने मुंबई में किस्मत आजमाने की सलाह दी, जिसके बाद वो मुंबई चली गई, यहां 1998 में उन्होने मिस इंडिया के लिये ऑडिशन दिया, और चुनी गई, लेकिन पिता ने कांट्रेस्ट में भाग लेने से मना कर दिया। आखिर मां ने साथ दिया, मां ने किसी तरह पैसों का इंतजाम कर स्मृति को दिया, हालांकि वो फाइनल तक पहुंची, लेकिन जीत नहीं सकी, मां को पैसे लौटाने के लिये स्मृति ने नौकरी ढूंढनी शुरु की, जेट एयरवेज में फ्लाइट अटेंडेंट के लिये आवेदन किया, लेकिन चयन नहीं हुआ, कई मॉडलिंग ऑडिशन में भी रिजेक्ट हुई, फिर उन्हें एक प्राइवेट नौकरी मिली।

टीवी में पहचान
2000 में स्मृति ईरानी ने सीरियल आतिश और हम हैं आज कल से छोटे परदे पर एंट्री ली, दोनों ही सीरियल स्टार प्लस पर प्रसारित होते थे, हालांकि उन्हें पहचान एकता कपूर के शो क्योंकि सास भी कभी बहू थी से मिली। इस शो में तुलसी का किरदार घर-घर में पहचाना जाने लगा, इस शो के लिये उन्होने 5 इंडियन टेलीविजन एकेडमी अवॉर्ड्स, 4 इंडियन टेली अवॉर्ड्स और 8 स्टार परिवार अवॉर्ड्स अपने नाम किये थे।

राजनीति में उतरी
स्मृति ईरानी बचपन से ही आरएसएस का हिस्सा रही हैं, उनके दादाजी स्वयंसेवक थे और मां जनसंघी, 2003 में बीजेपी ज्वाइन करने के बाद स्मृति महाराष्ट्र यूथ विंग की वाइस प्रेसीडेंट बनीं। 2004 लोकसभा चुनाव में उन्हें कपिल सिब्बल के खिलाफ चांदनी चौक सीट से बीजेपी ने उतारा, हालांकि वो हार गई, फिर 2010 में बीजेपी ने उन्हें राष्ट्रीय सचिव और महिला विंग का अध्यक्ष बनाया। 2014 लोकसभा चुनाव में उन्हें राहुल गांधी के खिलाफ अमेठी सीट से उतार दिया, वो फिर जीतने में असफल रही, फिर 2019 चुनाव में उन्होने अमेठी से राहुल गांधी को हरा दिया, फिलहाल स्मृति ईरानी मोदी सरकार में कपड़ा मंत्रालय के अलावा महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भी संभाल रही हैं।

No comments:

Post a Comment