CM गहलोत से बजट भाषण में हो गई अब तक की सबसे बड़ी चूक, अब आया याद, पहले कभी ऐसा नहीं हुआ - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Friday, February 26, 2021

CM गहलोत से बजट भाषण में हो गई अब तक की सबसे बड़ी चूक, अब आया याद, पहले कभी ऐसा नहीं हुआ


CM गहलोत से बजट भाषण में हो गई अब तक की सबसे बड़ी चूक, अब आया याद, पहले कभी ऐसा नहीं हुआ

 मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को 24 फरवरी के दिन विधानसभा में राजस्थान का बजट पेश किया था । करीब 2 घंटे 47 मिनट के बजट भाषण में मुख्‍यमंत्री ने सरकार का बजट सदन में पेश किया । मुख्‍यमंत्री ने बजट भाषण में करीब 109 पेज को पढ़ा था । लेकिन सीएम से यहां एक गलती हो गई, वह पेज नंबर 10 पढ़ना भूल गए । आज विधानसभा में बजट के दूसरे दिन गहलोत ने अपनी गलती सुधारी और फिर से छूटा हुआ पेज पढ़ा। जिसके बाद विपक्ष के विधायकों ने जमकर हंगामा काटा ।

इस वजह से छूटा पेज नंबर 10
दरअसल सीएम अशोक गहलोत बुधवार को जब बजट भाषण पए़ रहे थे तो वो पेज नंबर 9 से सीधे पेज नंबर 11 पर चले गए । जिसके चलते वो पेज नंबर 10 पढ़ना भूल गए । जिसके चलते कई अहम घोषणाएं जो इस पेज में लिखी थीं वो छूट गईं, इसमें चिकित्सा से जुड़ी घोषणाएं थीं । हालांकि उन्हें इस बात का पता चल गया और आज बजट का बचा हुआ पन्‍ना सदन में पढ़ लिया गया । हालांकि मुख्यमंत्री से हुई इस चूक पर सदन में विधायकों के बीच खूब चर्चा रही। क्‍योंकि आज तक ऐसा कभी नहीं देखा गया है ।

इन मुद्दों पर फोकस रहा बजट
राजस्‍थान सरकार ने इस बार अपने बजट में कई अहम योजनाओं का ऐलान किया । बजट में सीएम ने पूरा फोकस कृषि, हैल्थ, एजूकेशन, यूथ और पर्यटन पर रखा । इसके साथ ही उन्होंने ऐलान किया कि अगले साल से अलग कृषि बजट पेश होगा, जिसमें सिर्फ किसानों की हित की बात होगी। क्योंकि किसानों में भारत की आत्मा बसती है। वह सबसे पहले आते हैं।

सीएम गहलोत ने आज की ये घोषणाएं
पेज नंबर 10 पर थीं ये योजनाएं । आगे पढ़ें –
शाहपुरा-भीलवाड़ा, नोखा-बीकानेर, हिण्डौन-करौली,सागवाड़ा-डूंगरपुर, सवाई माधोपुर शहर (CHC), नीमकाथाना सीकर,शिवगंज-सिरोही, बालोतरा-बाड़मेर व प्रतापनगर जोधपुर के चिकित्सा संस्थानों को जिला अस्पताल में क्रमोन्नत किया जाएगा।
कुचामन सिटी, लाडनूं-नागौर, उदयपुरवाटी-झुंझुनूं, हलैना भरतपुर, मनियां (राजाखेड़ा)-धौलपुर व कोलायत-बीकानेर सहित 10 नए ट्रॉमा सेंटर खोले जाएंगे।
40 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों और 25 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के भवन निर्माण के लिए लगभग 206 करोड़ खर्च होंगे।
कोटा में 150 बेड क्षमता का नया जिला अस्पताल बनेगा, जोधपुर में मण्डोर अस्पताल को जिला अस्पताल में क्रमोन्नत किया जाएगा।
राज्य के विभिन्न चिकित्सालयों में कुल 1 हजार बेड्स की वृद्धि की जाएगी।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत लगभग 11 हजार प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व उप- स्वास्थ्य केन्द्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में विकसित कर 12 प्रकार की विभिन्न प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं फेजमैनर में उपलब्ध करवाई जाएगी।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment