कपिल मिश्रा ने दिल्ली हिंसा पर दिया बड़ा बयान, कहा-जरूरत पड़ी तो फिर से वही करूंगा - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Tuesday, February 23, 2021

कपिल मिश्रा ने दिल्ली हिंसा पर दिया बड़ा बयान, कहा-जरूरत पड़ी तो फिर से वही करूंगा


Kapil Mishra

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में सीएए-एनआरसी (CAA-NRC) को लेकर हुई हिंसा (Delhi violence) को एक साल हो गए हैं। इस मामले में भड़काऊ भाषण देने के आरोपी भाजपा के नेता कपिल मिश्रा (BJP Leader Kapil Mishra) ने एक बार फिर इस मामले पर बड़ा बयान दिया है। दिल्ली में कॉन्स्टीट्यूशनल क्लब में आयोजित एक प्रोग्राम के दौरान कपिल मिश्रा ने कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो वह फिर से वही करेंगे, जो पिछले साल 23 फरवरी को किया था। उन्होंने कहा कि दिल्ली हिंसा (Delhi Violence 2020) का एक साल हो गया है, इसलिए यह बात फिर से बोलना चाहता हूं। पिछले साल 23 फरवरी को जो किया था, यदि आवश्यकता हुई तो दोबारा वही करूंगा।

आपको बता दें कि पिछले साल पूर्वोत्तर दिल्ली में सीएए के समर्थन में कपिल मिश्रा ने एक रैली का नेतृत्व किया था और पुलिस को चेतावनी दी थी कि वे इस क्षेत्र से सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों को हटा दें। आरोप है कि इसी दौरान उन्‍होंने भड़काऊ भाषण दिया था, उसी के बाद हिंसा और बढ़ गई थी। उसके दूसरे दिन दिल्ली में दंगे हुए, जिसमें 53 लोगों ने अपनी जान गंवा दी थी।

कपिल मिश्रा ने कहा कि जिहादी ताकतों ने दिल्ली हिंसा को अंजाम दिया था। अब इस घटना को एक साल हो गया है। बिल्कुल वैसा ही पैटर्न अब भी देखा जा रहा है। उन्‍होंने आगे कहा कि गणतंत्र दिवस पर क्या हुआ था? तथाकथित फ्रिंज एलिमेंट देश के अंदर और बाहर शांति को भंग करने का प्रयास कर रहे हैं। एक पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में कपिल मिश्रा ने कहा कि पुस्तक में दंगों के साजिशकर्ताओं पर बहुत कुछ है। यही कारण है कि आपको मेरे बारे में किताब में अधिक कुछ नहीं मिलेगा। इस पुस्तक को सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील मोनिका अरोड़ा, मिरांडा हाउस की असिस्टेंट प्रोफेसर सोनाली चीतलकर और प्रेरणा मल्होत्रा ​ने लिखा है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment