19 साल बाद दो ग्रहों की युति से बना ऐसा खतरनाक योग, झेलने पड़ेंगे बुरे परिणाम - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Friday, February 26, 2021

19 साल बाद दो ग्रहों की युति से बना ऐसा खतरनाक योग, झेलने पड़ेंगे बुरे परिणाम


angarak yog 2021 mangal rahu

ग्रहों का एक राशि से दूसरी राशि में प्रवेश करने से सभी राशियों पर प्रभाव पड़ता है. लेकिन दो ग्रहों की युति से कई बार ऐसा खतरनाक योग बनता है जिससे राशियों को बुरे परिणाम भी झेलने पड़ सकते हैं. ज्योतिषीय गणना के अनुसार, पूरे 19 सालों के बाद मंगल और राहु की युति से अंगारक योग (Angarak Yog 2021) बना है. ऐसा योग 19 साल पहले 2002 में बना था. चूंकि, बीते 22 फरवरी को ही मंगल अपनी स्वराशि मेष से वृषभ राशि में आए हैं और इस राशि में पहले से राहु विराजमान हैं. ऐसे में यहां राहु और मंगल का मिलन हो रहा है जिससे अंगारक योग बन रहा है. वृष राशि में दो ग्रहों के मिलन से बना अंगारक योग 13 अप्रैल 2021 तक रहेगा. जिसके कई बुरे प्रभाव देखने को मिल सकते हैं. इस योग के बनने से प्राकृतिक आपदाओं का भी जन्म होता है.

खतरनाक है योग
ज्योतिश शास्त्र में इस योग को अशुभ और खतरनाक माना जाता है. इस योग के बनने से व्यक्ति की बुद्धि भ्रष्ट हो जाती है और व्यक्ति का व्यवहार हिंसक व आक्रामक हो जाता है. अगर समय पर इसके उपाय न किए जाएं तो जातकों को काफी लंबे समय तर योग के बुरे परिणामों का सामना कर पड़ सकता है. इस खतरनाक योग का असर व्यक्ति की पारिवारिक जिंदगी पर पड़ता है जिससे तमाम मुश्किलें पैदा हो जाती हैं.

शुक्र का मकर में गोचर
दो ग्रहों की युति के साथ हाल ही में शुक्र ने मकर राशि में गोचर किया है जो 15 मार्च 2021 तक प्रभावी रहेगा. कुंभ राशि के स्वामी शनिदेव हैं और शुक्र व शनि के बीच मित्रता है. ऐसे में शनि की राशि में शुक्र का शुभ प्रभाव देखने को मिलेगा, शुक्र ग्रह को भौतिक सुख-सुविधाओं व समृद्धि का कारक माना जाता है. इससे महिलाओं को उन्नति मिलेगी व अधिकारों में वृद्धि होगी.

आपदाओं का होगा जन्म
भले ही शनि और शुक्र की मित्रता से कुछ मंगल होने की संभावना है. लेकिन वृष राशि में मंगल और राहु की युति का असर मौसम पर दिखेगा. कुछ प्रदेशों में प्राकृतिक आपदाएं तबाही मचा सकती हैं. इन दोनों के मिलन से देश के कुछ हिस्सों में सर्दी की वापसी देखने को मिल सकती है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मंगल व राहु की युति अच्छी नहीं होती और इससे सड़क दुर्घटना, अग्नि दर्घटना और प्राकृतिक आपदाओं के संकेत मिलते हैं. यानि जब तक वृष राशि में मंगल और राहु रहेंगे तब तक जातकों को बुरे परिणामों का सामना करना पड़ सकता है.

नोटः आलेख में दी गई जानकारी सामान्य जानकारी पर आधारित है. बॉलीकॉर्न इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment