चीन की हर हरकत पर अब होगी Quad की नजर, चीनी जहाज की लोकेशन चीन से भी पहले Quad के पास होगी - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Monday, January 18, 2021

चीन की हर हरकत पर अब होगी Quad की नजर, चीनी जहाज की लोकेशन चीन से भी पहले Quad के पास होगी


अब समुद्र में चीन की सबमरीन, ड्रोन और vessels की सटीक लोकेशन की जानकारी चीनी PLA से ज़्यादा भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया की सरकार को होगी! सुनने में ये थोड़ा अजीब लग सकता है, लेकिन असल में यही सच है। यह सब मुमकिन हुआ है Quad के Fish hook नेटवर्क की बदौलत, जिसके तहत हिन्द महासागर से लेकर दक्षिण चीन सागर तक इन सभी मित्र देशों ने पानी के अंदर Microphones, Hydrophones और सेंसर्स का ऐसा जाल बिछाया है, कि चीनी PLA तो क्या, कोई परिंदा भी बिना Quad की जानकारी के समुद्र में घुस नहीं पाएगा!

Fish Hook नटवर्क क्या है, पहले इसे थोड़ा और detail में समझ लेते हैं। जिस प्रकार जमीनी बॉर्डर पर कोई दीवार खड़ी कर दी जाती है, ठीक उसी प्रकार अमेरिका और जापान ने चीन को घेरने की मंशा से दक्षिण चीन सागर के चारों ओर पानी के नीचे एक दीवार का निर्माण किया हुआ है। बस फर्क इतना है कि यह दीवार Microphones और कई प्रकार के ऐसे यंत्रों से मिलकर बनी है, जो धरती के magnetic field में आए थोड़े से बदलाव के आधार पर यह पता लगा सकती है कि अभी किसी भी समुद्री जहाज़, Drone और vessel की सटीक लोकेशन क्या है।

अब चीन को घेरने की मंशा से भारत भी अपने Andaman एवं Nicobar द्वीपों से लेकर इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीपों तक इसी प्रकार की एक आधुनिक सबमरीन दीवार का निर्माण कर चुका है और इस दीवार को अमेरिका-जापान के विशाल Fish hook Network से जोड़ चुका है।

Fish hook यूं तो मछ्ली पकड़ने के लिए इस्तेमाल में लाए जाने वाले कांटे को कहते हैं, लेकिन भू-राजनीति और वैश्विक सुरक्षा के संदर्भ में आज यह नाम PLA के जहाजों को मॉनिटर करने वाले नेटवर्क को दिया गया है। इसका मकसद यह है कि दक्षिण चीन सागर में Quad के सर्वेलांस को इस हद तक बढ़ा दिया जाये कि PLA से ज़्यादा Quad देशों को चीनी जहाजों की जानकारी रहे! अब चूंकि भारत ने अपने Andaman एवं Nicobar द्वीपों को इस नेटवर्क से जोड़ दिया है, तो अब भारत चीन के सबसे अहम ट्रेडिंग रूट की चप्पे-चप्पे की खबर रख पाएगा! मलक्का स्ट्रेट के माध्यम से चीन अपना अधिकतर तेल आयात करता है और यहाँ से दुनिया के कुल व्यापार का करीब 25 प्रतिशत हिस्सा गुजरता है। इसके साथ ही इसे हिन्द महासागर का entry point भी कहा जाता है। चीनी PLA अक्सर अंडमान एवं निकोबार द्वीपों के रास्ते ही हिन्द महासागर में घुसपैठ करने की फिराक में रहती है। ऐसे में अब Fish hook Network इस बात को सुनिश्चित करेगा कि चीनी PLA अपनी सीमाओं में रहकर ही ओपरेट करे!

चीन दक्षिण चीन सागर में अंतराष्ट्रीय नियमों के लागू करने का विरोध करता है और अपने 9 डैश लाइन दावे के तहत इसके अधिकतर हिस्से को अपना इलाका बताता है। ऐसे में अब Quad का प्रमुख निशाना दक्षिण चीन सागर ही है, ताकि यहाँ से चीन का प्रभाव खत्म कर चीन के आक्रामक मंसूबों को धराशायी किया जा सके! हिमालय में लद्दाख से लेकर जापान के सेनकाकु द्वीपों तक चीन Quad के खिलाफ लगातार आक्रामक रुख अपनाए हुए है, ऐसे में अब Quad दक्षिण चीन सागर को चारों ओर से घेरकर चीन को इस fish hook trap में फँसाने की पूरी तैयारी कर चुका है।

source

No comments:

Post a Comment