google, website और internet के बीच फर्क है या तीनों एक ही हैं? यहां जानें सब कुछ - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Wednesday, January 27, 2021

google, website और internet के बीच फर्क है या तीनों एक ही हैं? यहां जानें सब कुछ


क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर google, website और internet के बीच क्या फर्क है? अगर आपको नहीं पता तो हम आपको अपनी इस पोस्ट में इन तीनों के बीच के फर्क के बारे में ही बताने जा रहे हैं। वैसे तो ज्यादातर लोगों को ऐसा लगता है कि चाहे गूगल हो या वेबसाइट या फिर हो इंटरनेट यह तीनों चीज एक ही हैं। इन तीनों में कोई फर्क ही नहीं है। अगर आप भी अभी तक यही सोचते आ रहे हैं, तो आज हम आपकी इस गलत फेमी को इस पोस्ट के जरिए दूर करने जा रहे हैं। दरअसल, यह तीनों एक नहीं है बल्कि इन तीनों के  बीच जमीन आसमान का फर्क है। 

INTERNET 
सबसे पहले बात करते हैं इंटरनेट की। इंटरनेट का अविष्कार 1960 के दशक में अमेरिकी सेना द्वारा किया गया था। तब इंटरनेट का अविष्कार ArpaNetproject के तहत किया गया था। लेकिन, जब 1980-90 के उत्तर्राद्ध में व्यक्तिगत कंप्यूटरों का इजाद हुआ तब इंटरनेट की पहुंच अपने शबाब पर पहुंच चुकी थी। दरअसल, इंटरनेट दो या दो से अधिक कंप्यूटरों को आपस में जोड़ने का काम करता है, जिससे यह आपस में संचार स्थापित कर सके। इंटरनेट के जरिए दो या दो अधिक कंप्यूटर जहां आपस में संचार स्थापित करते हैं, तो वहीं ये आपस में डेटा भी साझा करते हैं। लेकिन, पहले इंटरनेट अपने संकुचित स्तर पर था, लेकिन आज गुजरते वक्त के साथ यह व्यापक रूप धारण कर चुका है और आने वाले समय में इसकी व्यापकता में और तेजी देखने को मिलेगी।

WEB 
यह तो रही  इंटरनेट की बात की उसका  अविष्कार कब हुआ। आपको पता है कि इंटरनेट के जरिए दो या  दो से अधिक कंप्यूटर आपस में संचार स्थापित करते हैं। इसके बाद बारी आती है वेब की। बता दें कि इंटरनेट के अविष्कार के 29 साल बाद 1989 में महान कंप्यूटर वैज्ञानिक सर टिम वर्नर्स ने दुनिया की पहली वेबसाइट इंटरनेट की दुनिया में लॉन्च की थी। जिसे वर्ल्ड वाइड वेब भी कहा जाता है। जिन पर आप आसानी से एक्सेस कर सकते हैं। यह जानकारी के रूप में एकत्रित होती हैं। इन वेबसाइटों पर कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक रूप से पहुंच सकता है। चूंकि यह वर्ल्ड वाइड वेब के अंतर्गत आता है। वे सभी वेबसाइट जो वर्ल्ड वाइड वेब के अंतर्गत आते हैं। वहां कोई भी व्यक्ति आसानी से एक्सेस कर सकता है, लेकिन जो वर्ल्ड वाइड वेब के अंतर्गत नहीं आते हैं। वहां आप नहीं पहुंच सकते हैं। हाालंकि यह भी इंटरनेट का ही हिस्सा होते हैं, लेकिन वहां पहुंचने के लिए आपको पासवर्ड चाहिए चूंकि यह वर्ल्ड वाइड वेब का हिस्सा नहीं होते हैं।  जैसे फेसबुक,  वाट्सएप, टेलीग्राम । यह सभी इंटरनेट का ही पार्ट  है।  लेकिन आपको  पासवर्ड चाहिए , क्योंकि ( www) का हिस्सा नहीं हैं।

SEARCH ENGINE 
वहीं सर्च इंजन का अविष्कार वेबसाइट के अविष्कार के 2-3 साल के बाद हुआ। आपको अब पता चल गया होगा कि सबसे पहले इंटरनेट का अविष्कार किया गया, जिससे दो से अधिक कंप्यूटरों को आपस में जोड़ा जाता है। इसकेे बाद वेबसाइट का अविष्कार हुआ, जिस पर जानकारी एकत्रित हुआ करती थी, जो जाकर इंटरनेट के सर्वर में जाकर एकत्रित होते थे। वहीं, जब सर्च इंजन का अविष्कार नहीं हुआ था। उस समय जब कोई इंटरनेट पर जाकर कोई  जानकारी खोजता था तो उसे अलग-अलग वेबसाइट पर जाना पड़ता था, ताकि वो अपनी जरूरत के मुताबिक जानकारी प्राप्त कर सके। आपको पता है कि यह सभी वेबसाइट  इंटरनेट के सर्वर पर स्टोर रहते हैं। जहां जाकर यूजर अपनी  पसंद की जानकारी प्राप्त करता था, जिसमें उसका बहुत अधिक समय लगता था।

बस.. यूजर की इन्हीं समस्याओं को ध्यान में  रखते हुए वेबसाइट के  अविष्कार होने के  दो-तीन सालों के बाद ही एक ऐसे टूल का अविष्कार किया गया, जिसके  माध्यम से  यूजर  की सारी क्वारी महज दो  सेकेंड में ही खत्म हो जाए और इस लंबी कश्मकश से भी बचा जाए। इसके लिए सर्च इंजन का अविष्कार किया गया। जहां आप अपनी  कोई क्वारी टाइप कर ( जिसे KEYWORD कहते हैं)  प्राप्त कर सकते हैं। इससे यूजर का जहां समय बचा तो वहीं उसकी जानकारी प्राप्त करने में आसानी हुई।

आज की तारीख में बहुत सारे सर्च इंजन मार्केट में मौजूद है। लेकिन सबसे ज्यादा इस्तेमाल में आए जाना वाला सर्च इंजन गूगल है। एक आंकड़ें के मुताबिक, पूरी दुनिया में लोग सबसे ज्यादा क्वारी गूगल पर सर्च करते हैं, लेकिन मार्केट में गूगल के अलावा भी कई सर्च इंजन मौजूद हैं। जैसे, बिंग, याहू। कई बार आपको  लगता होगा कि गूगल कितना ज्ञानवान है, लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हैं। वो तो महज एक सर्च इंजन है,  जिस पर आप कुछ कीवर्ड के रूप में सर्च करते हैं। और वो वेबसाइट के रूप में मौजूद जानकारी को आप तक पहुंचाता है। 

No comments:

Post a Comment