शत्रुघ्न सिन्हा ने तोड़ी चुप्पी, सरकार को घमंड छोड़ने की सलाह, रवीश कुमार की वजह से हो रहे ट्रोल! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Thursday, January 14, 2021

शत्रुघ्न सिन्हा ने तोड़ी चुप्पी, सरकार को घमंड छोड़ने की सलाह, रवीश कुमार की वजह से हो रहे ट्रोल!


शत्रुघ्न सिन्हा ने तोड़ी चुप्पी, सरकार को घमंड छोड़ने की सलाह, रवीश कुमार की वजह से हो रहे ट्रोल!

कृषि कानूनों को लेकर जारी सियासत के बीच सुप्रीम कोर्ट ने इन कानूनों को लागू करने पर अस्थायी तौर पर रोक लगा दी है, इनकी समीक्षा के लिये कमेटी भी गठित की है, इधर देश के अलग-अलग हिस्सों के किसान अभी भी दिल्ली सीमा पर डटे हुए हैं, इन कानूनों की वापसी की मांग पर अड़े हैं, इस बीच शत्रुघ्न सिन्हा ने एक ट्वीट कर सरकार को सलाह दी है, कि ये आग से खेलने का समय नहीं है।

ये क्या हो रहा है
शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट किया, सर ये क्या हो रहा है, हम क्या कर रहे हैं, सरकार को अपना घमंड दरकिनार करना चाहिये, लोहड़ी की बधाई देते हुए ये ध्यान रखने की जरुरत है, कि ये आग से खेलने का समय नहीं है, क्या 130 करोड़ की आबादी में हमें एक तटस्थ पैनल नहीं मिला।
विवादित कानून
शॉटगन ने आगे लिखा, पैनल में चुने गये लोग ही इस विवादित कानून को बनाने में भी शामिल रहे हैं, आपके सलाहकारों को सूचना, जानकारी तथा ज्ञानवर्धन के लिये एनडीटीवी इंडिया के एग्जीक्यूटिव एडिटर रवीश कुमार का वीडियो जरुर देखना चाहिये। पूर्व सांसद ने अपने ट्वीट में ममता बनर्जी, अरविंद केजरीवाल, अखिलेश यादव, मायावती, तथा कांग्रेस नेता शशि थरुर, यशवंत सिन्हा और शरद पवार जैसे नेताओं को टैग भी किया है।

तानाशाही की खिलाफत करें
शत्रुघ्न सिन्हा के इस ट्वीट पर तमाम यूजर्स भी उनका समर्थन तथा विरोध करते दिख रहे हैं, अनुराग नाम के एक यूजर ने लिखा, कितना दुर्भाग्यपूर्ण है, कि इस वक्त एक मजबूत विपक्ष भी नहीं है, जो इस तानाशाही की खिलाफत कर सके। shatrughan1मालूम हो कि कृषि कानूनों की वापसी की मांग पर अड़े किसानों के प्रदर्शन को करीब 50 दिन हो चुके हैं, किसान अभी भी दिल्ली की बॉर्डर पर डटे हैं, तथा 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकालने का ऐलान किया है। हालांकि किसानों के प्रदर्शन के बीच सुप्रीम कोर्ट ने इन कानूनों के लागू करने पर रोक लगा दी है, सुप्रीम कोर्ट ने एक कमेटी भी गठित की है, जो इन कानूनों का अध्ययन करेगी, इस कमेटी की रिपोर्ट आने तक कानून लागू नहीं होंगे।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।


No comments:

Post a Comment