सिविल सेवा की नौकरी छोड़ शुरु की किसानी, ऐनेस्थेसिया में एमडी थे किसान आंदोलन के नेता दर्शन पाल! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Sunday, January 10, 2021

सिविल सेवा की नौकरी छोड़ शुरु की किसानी, ऐनेस्थेसिया में एमडी थे किसान आंदोलन के नेता दर्शन पाल!


सिविल सेवा की नौकरी छोड़ शुरु की किसानी, ऐनेस्थेसिया में एमडी थे किसान आंदोलन के नेता दर्शन पाल!

देश के किसान 25 नवंबर से नये कृषि बिलों के विरोध में धरने पर बैठे हैं, किसानों ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के चारों तरफ सीमा पर धरना दे रखा है, 2 दिन पहले किसानों ने शक्ति प्रदर्शन करते हुए ट्रैक्टर मार्च भी निकाला था, किसान तथा सरकार के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन गतिरोध खत्म होने का नाम नहीं ले रहा, इस किसान आंदोलन में पंजाब, हरियाणा तथा पश्चिमी यूपी के कई किसान नेता अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं, ऐसे ही एक किसान नेता हैं क्रांतिकारी किसान यूनियन पंजाब के अध्यक्ष दर्शन पाल।

कौन हैं दर्शनपाल
डॉ. दर्शन पाल आंदोलन के मुख्य चेहरों में से एक हैं, दर्शन किसानों के उस कोर ग्रुप में शामिल हैं, जो कृषि बिल तथा किसानों के मुद्दों को लेकर सरकार से बातचीत कर रहा है, दर्शन पाल क्रांतिकारी किसान यूनियन के अध्यक्ष भी हैं, ये संगठन वामपंथी विचारधारा का समर्थन करता है, वो लंबे समय से किसानों की कर्जमाफी की लड़ाई लड़ रहे हैं, उनका संगठन जून 2020 से नये कृषि बिलों का विरोध कर रहा है।

नौकरी छोड़ किसानी
डॉ. दर्शन पाल ऐनेस्थेसिया में एमडी हैं, उन्होने लंबे समय तक सरकारी नौकरी की, फिर उन्होने 2002 में पंजाब सिविल मेडिकल सर्विस से त्यागपत्र दे दिया, सरकारी नौकरी से त्यागपत्र देने के बाद दर्शन पाल अपनी 15 एकड़ जमीन पर खेती करने लगे, क्रांतिकारी किसान यूनियन में शामिल होने से पहले वो भारतीय किसान यूनियन के आंदोलनों में भी काफी सक्रिय रहे हैं।

किसान संगठन के बीच तालमेंल में अहम भूमिका
किसान संगठों के बीच तालमेल बनाने में डॉक्टर दर्शन पाल ने अहम भूमिका निभाई है, पटियाला के रहने वाले डॉक्टर दर्शन पाल मीडिया से बात करने की जिम्मेदारी भी निभा रहे हैं, वो किसान नेतृत्व के उन चेहरों में शामिल हैं, जो क्षेत्रीय भाषाओं के साथ ही अंग्रेजी में भी पूरी मजबूती से मीडिया से बात करते हैं, ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोर्डिनेशन कमेटी के सदस्य के तौर पर दर्शन पाल ने आंदोलन को पंजाब से बाहर यूपी, राजस्थान में ले जाने में अहम भूमिका निभाई है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment