कभी ऑटो चलाते थे मोहम्‍मद सिराज के पिता, अब बेटे ने घर के आगे खड़ी कर दी इतनी महंगी कार - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Saturday, January 23, 2021

कभी ऑटो चलाते थे मोहम्‍मद सिराज के पिता, अब बेटे ने घर के आगे खड़ी कर दी इतनी महंगी कार

 

कभी ऑटो चलाते थे मोहम्‍मद सिराज के पिता, अब बेटे ने घर के आगे खड़ी कर दी इतनी महंगी कार

अजिंक्‍य रहाणे की कैप्‍टनशिप में भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ 4 टेस्‍ट मैचों की सीरीज में ऐतिहासिक जीत दर्ज की । सीनियर और एक्‍सपीरियंस्‍ड खिलाड़ियों के टीम में ना होने के बावजूद भारत की युवा बिग्रेड ने ऑस्‍ट्रेलिया में कमाल कर दिखाया । पूरे मैच में वाशिंगटन सुंदर, टी नटराजन, मोहम्‍मद सिराज ऑस्‍ट्रेलिया में छाए रहे । खासतौर पर सिराज के लिए यह दौरा काफी यादगार और खास रहा, हालांकि इस दौरे से उनकी एक गमगीन याद भी जुड़ गई । दरअसल दौरा शुरू होने से पहले ही उनके पिता दुनिया को अलविदा कह गए, सिराज इसके बावजूद वह घर नहीं लौटे और टीम के साथ रहकर अपने पिता का सपना पूरा किया ।

खुद को दिया Gift
ऑस्‍ट्रेलिया में ऐतिहासिक जीत हासिल करके घर लौटते ही सिराज ने खुद को गिफ्ट दिया है । दरअसल शुक्रवार को सिराज ने खुद को एक बीएमडब्‍ल्‍यू कार गिफ्ट की । क्रिकेटर ने अपने इंस्‍टाग्राम हैंडल पर इस गाड़ी की तस्‍वीर शेयर की, और फैंस के साथ अपनी खुशी साझा की । सिराज ने नई गाड़ी का एक वीडियो अपने सोशल मीडिया पर शेयर किया है ।

पिता थे ऑटो ड्राईवर
मोहम्‍मद सिराज के पिता कभी ऑटो चलाया करते, उनके बेटे ने अब घर के बाहर एक BMW कार खड़ी कर दी है । ये पल देखने के लिए उनके पिता ने कितने सपने देखे होंगे, लेकिन सिराज को दुख भी है कि आज उनके पिता का साथ उनके साथ नहीं है । सिराज के इंस्‍टा स्‍टोरी पर उनके फैंस उन्‍हें नई गाड़ी की बधाई दे रहे हैं, साथ ही मैच में उम्‍दा प्रदर्शन के लिए उनकी खूब तारीफ भी हो रही है ।

पिता ने हमेशा दिया साथ
मोहम्‍मद सिराज हैदराबाद के एक बेहद ही गरीब परिवार में जन्मे थे, उनके पिता एक ऑटो ड्राइवर थे । बावजूद इसके पिता ने सिराज को कभी किसी चीज की कमी नहीं होने दी । सिराज को क्रिकेटर बनाने का सपना उन्‍होंने ही देखा था, उनके लिए पिता अच्छे से अच्छे स्पाइक्स लाकर देते थे । वो दिनभर क्रिकेट की ही प्रैक्टिस करते थे, यहां तक कि वो रात में भी प्रैक्टिस के लिए जाते थे । एक ओर जहां मां मां ने उन्हें कई बार पीटती थीं, वहीं पिता ने उनके सपने को पूरा करने के लिए सब कुछ किया । सिराज की यही जिद उन्‍हें आईपीएल तक ले गई, और इंटरनेशनल क्रिकेट में भी उन्‍होंने झंडे गाड़ दिए हैं ।

No comments:

Post a Comment