दिल्‍ली का वो दिलेर पुलिसवाला जिसने तलवार के आगे नहीं झुकाई गर्दन, बना ढाल; खाकी पर नहीं आने दी आंच - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Saturday, January 30, 2021

दिल्‍ली का वो दिलेर पुलिसवाला जिसने तलवार के आगे नहीं झुकाई गर्दन, बना ढाल; खाकी पर नहीं आने दी आंच

  

दिल्‍ली का वो दिलेर पुलिसवाला जिसने तलवार के आगे नहीं झुकाई गर्दन, बना ढाल; खाकी पर नहीं आने दी आंच

प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई झड़प की कुछ ऐसी तस्‍वीरें सामने आ रही हैं जो दिल दहलाने वाली हैं । एक ऐसी ही तस्‍वीर एक पुलिसकर्मी की वायरल हो रही है, जो तलवार ताने प्रदर्शनकारी के सामने निहत्‍था खड़ा है, लेकिन डर उसका छू तक नहीं सकता । प्रदर्शनकारी ने ये तक कहा कि नई दिल्ली जाने नहीं दिया तो गर्दन काटकर अलग कर दी जाएगी। लेकिन ये सनुकर भी वो टस से मस नहीं हुआ । एसआई दया चंद दिल्‍ली के दिलेर पुलिसवाले के रूप में चर्चा में हैं, वहीं कांस्टेबल नितिन ने भी लाठी से तलवार का मुकाबला किया।

वायरल हो रही तस्‍वीर
सोशल मीडिया पर हिंसा-उपद्रव की एक फोटो तेजी से वायरल हुई है जिसमें दिख रहा है एक प्रदर्शनकारी ने पुलिसकर्मी पर तलवार तान रखी है। तस्‍वीर वायरल होने के बाद से लोग इस निडर पुलिसकर्मी के बारे में जानने को बेकरार थे, जानकारी के अनुसार जिस पुलिसकर्मी पर तलवार तानी थी वह मंडावली थाने में तैनात एसआई दया चंद हैं। फोटो गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड के नाम पर हुए उपद्रव के दौरान अक्षरधाम के पास की है। दया चंद ने वायरल हो रही इस तस्‍वीर का एक-एक लम्‍हा याद कर सुनाया ।

जब उपद्रवियों ने मचाया था तांडव
एसआई दया चंद ने वायरल फोटो पर बताया कि मंगलवार सुबह वह अक्षरधाम के पास ड्यूटी पर था जब  किसानों को नई दिल्ली जाने से रोकने के लिए पुलिस ने करीब 12 स्तरीय बैरिकेडिंग की हुई थी । उसी दौरान वहां बड़ी संख्या में ट्रैक्टर ट्राली के साथ लोग पहुंचे और ट्रैक्टर से बैरिकेड्स को तोड़ने लगे। जब पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो वो तलवारें लेकर बैरिकेड्स पर ही चढ़ गए । उन्‍होंने पुलिस की पर तलवारों से हमला कर दिया। दया चंद ने बताया कि कैसे एक निहंग ने उनपर कई बार तलवार से हमला किया, लेकिन वह किसी तरह से बच गए। निहंग तलवार से उनकी गर्दन पर वार करने ही वाला था, तभी कांस्टेबल नितिन ने तलवार पर डंडा अड़ा दिया। जिस वजह से तलवार लगने से बाल-बाल बच गई।

उम्‍मीद नहीं थी अन्‍नदाता ऐसा भी कर सकते हैं ..
एसआई दया चंद ने आगे कहा कि हमला करने वाले को हमने अन्नदाता समझा था । लेकिन उन्‍हें  उम्मीद नहीं थी वह पुलिस के साथ ऐसा बर्ताव करेंगे। निहंग की तलवार लगने से उनकी जान भी जा सकती थी, लेकिन फिर भी उन्‍होंने अपना पुलिस धर्म निभाया । वह डरे नहीं और डटकर उसका  मुकाबला किया। वहीं कांस्‍टेबल नितिन की भी बहादुरी की चर्चा हो रही है, नितिन ने कहा कि पुलिस का धर्म है लोगों की हिफाजत करना । उन्‍होंने जब पुलिस में भर्ती ली थी, तब ही सारा डर पीछे छोड़ दिया था । नितिन ने तलवार का मुकाबला अपने डंडे से किया है ।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment