सिर्फ एक कान से सुन पाने वाले क्रिकेटर ने टीम इंडिया के लिये किया डेब्यू, बने 301वें क्रिकेटर! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Friday, January 15, 2021

सिर्फ एक कान से सुन पाने वाले क्रिकेटर ने टीम इंडिया के लिये किया डेब्यू, बने 301वें क्रिकेटर!

 

सिर्फ एक कान से सुन पाने वाले क्रिकेटर ने टीम इंडिया के लिये किया डेब्यू, बने 301वें क्रिकेटर!

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिस्बेन में खेले जा रहे चौथे टेस्ट मुकाबले में आर अश्विन की जगह ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर को डेब्यू का मौका मिंला है, आईपीएल-13 के बाद नेट बॉलर के रुप में ऑस्ट्रेलिया लाये गये सुंदर की किस्मत चमकी, उन्हें अश्विन की जगह डेब्यू का मौका मिला है, सुंदर टीम इंडिया के 301वें टेस्ट खिलाड़ी के रुप में डेब्यू कर चुके हैं।

एक कान से नहीं सुन पाते
आर अश्विन सिडनी में टीम इंडिया को ऐतिहासिक ड्रा कराने के दौरान चोटिल हो गये थे, इससे पहले सुंदर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज में खेले थे, सुंदर की बात करें, तो वो सिर्फ एक कान से ही सुन पाते हैं, जब वो चार साल के थे, तो उन्हें बीमारी का पता चला, कई अस्पतालों में इलाज के बाद पता चला कि ये रोग असाध्य है।

परेशानी का सामना
वॉशिंगटन सुंदर को भी इसके चलते परेशानी का सामना करना पड़ता था, लेकिन उन्होने इस कमजोरी को हावी नहीं होने दिया, सुंदर ने 2016 में तमिलनाडु टीम में जगह बनाई, वो कहते हैं कि मुझे मालूम है कि फील्डिंग के दौरान साथी खिलाड़ियों को कॉर्डिनेट करने में परेशानी होती है, लेकिन कभी इसकी वजह से किसी ने शिकायक नहीं की, वो मेरी कमजोरी को लेकर कभी कुछ नहीं कहते।

सुंदर के नाम के साथ क्यों जुड़ा वॉशिंगटन
सुंदर पार्थिव पटेल के बाद सबसे कम उम्र में टीम इंडिया की ओर से वनडे में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी बने थे, उन्होने 18 साल 69 दिन में डेब्यू किया था, जबकि पार्थिव पटेल ने 2003 में 17 साल 301 दिन में वनडे डेब्यू किया था, सुंदर के नाम में एक राज छुपा है, दरअसल उनके पिता एम सुंदर अपने गॉडफादर पीडी वॉशिंगटन के नाम पर अपने बेटे का नाम रखा था, वॉशिंगटन ने सुंदर के पिता की काफी मदद की, मुश्किल समय में परिवार के साथ खड़े रहे, इसलिये सुंदर के पिता उन्हें अपना गॉडफादर मानते हैं।

जर्सी नंबर में छिपा है गहरा राज
अपने नाम को लेकर चर्चा का विषय बन चुके सुंदर हमेशा 55 नंबर की जर्सी पहनकर खेलते हैं, सुंदर की ज्रसी के नंबर का भी एक खास मतलब है, एक वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक सुंदर ने इंटरव्यू में बताया था उनकी जन्मतिथि, तथा जन्म का समय अस जर्सी नंबर के पीछे की सबसे बड़ी वजह है, सुंदर का जन्म 5 अक्टूबर को सुबह 5 बजकर 5 मिनट पर हुआ था, इसी वजह से उन्होने अपनी जर्सी का नंबर 55 रखा है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment