बड़ी खबर- 27 जनवरी से 1 से 8 तक के बच्चे भी जा सकते हैं स्कूल, सरकार बड़ी तैयारी में जुटी! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Wednesday, January 20, 2021

बड़ी खबर- 27 जनवरी से 1 से 8 तक के बच्चे भी जा सकते हैं स्कूल, सरकार बड़ी तैयारी में जुटी!

 

बड़ी खबर- 27 जनवरी से 1 से 8 तक के बच्चे भी जा सकते हैं स्कूल, सरकार बड़ी तैयारी में जुटी!

स्कूली बच्चों से जुड़ी बड़ी खबर ये है कि अब क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चों को भी जल्द ही स्कूल जाने की अनुमति मिल सकती है, शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने एक निजी न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि इस महीने के आखिर तक 1 से 8 तक के स्कूल खोले जाने का फैसला सरकार ले सकती है, इसको लेकर 25 जनवरी तक मुख्य सचिन की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक होगी, प्रधान सचिव ने तकहा कि जनवरी से क्लास 9 से 12 तक की क्लासें संचालित हो रही है, जिसमें 50 फीसदी में 30 फीसदी बच्चों की उपस्थिति देखी जा रही है, ऐसे में अब इसी पैटर्न पर क्लास 1 से 8 तक के बच्चों की भी पढाई शुरु हो, इस पर जल्द फैसला होगा।

सही फीडबैक
संजय कुमार ने स्पष्ट कहा कि अब तक कहीं से किसी तरह की अप्रिय खबरें नहीं आई है, सही फीडबैक मिल रहा है, ऐसे में 25 जनवरी को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक होगी, तथा 27 जनवरी से छोटे बच्चों के लिये शर्तों के साथ स्कूल खोले जा सकते हैं, आपको बता दें कि प्रदेश में 4 जनवरी से 9वीं से लेकर 12वीं तक के स्कूल खोलने का आदेश दिया गया था।

कोरोना जांच
स्कूल खोले जाने के बाद मुंगेर, नवादा, पटना समेत कई जिलों में टीचर से लेकर स्टूडेंट तक कोरोना संक्रमण के शिकार हुए थे, मामला प्रकाश में आने के बाद शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने स्वास्थ्य विभाग को लेटर लिखकर अनुरोध किया था, राज्य के सरकारी स्कूलों में रेंडमली छात्रों तथा शिक्षकों की कोरोना जांच की जाए।

जांच की कार्रवाई तेज
स्वास्थ्य विभाग ने इस पर अमल करते हुए जांच की कार्रवाई भी तेज कर दी है, कई जिलों में सैम्पल जांच की प्रक्रिया भी जारी है, ऐसे में अब इंतजार करना होगा, कि क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में क्या फैसला लिया जाता है, अगर स्कूल खोल दिये जाते हैं, तो अभिभावक छोटे बच्चों को स्कूल भेजने पर सहमति जताते हैं या नहीं, ये भी एक बड़ा सवाल है।

No comments:

Post a Comment