जानें क्या है ये ब्लैक फंगस, जो COVID-19 के साथ मिलकर और जानलेवा साबित हो रहा है - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Saturday, December 26, 2020

जानें क्या है ये ब्लैक फंगस, जो COVID-19 के साथ मिलकर और जानलेवा साबित हो रहा है

 

जानें क्या है ये ब्लैक फंगस, जो COVID-19 के साथ मिलकर और जानलेवा साबित हो रहा है

ब्‍लैक फंगस या म्यूकॉरमाइकोसिस, ये बीमारी लो इम्‍यूनिटी यानी कि कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले मरीजों को ही होती है । अब ये समस्‍या कोरोना के मरीजों में नजर आने लगी है । गुजरात सरकार की ओर से एक एडवाइजरी जारी की गई है, जिसमें ब्लैक फंगस के लक्षण बताते हुए लोगों को सावधान रहने की अपील की गई है । हालांकि ये निर्देश अभी डॉक्टरों के लिए जारी की गई है, जिसमें बताया गया है कि कोरोना के कारण कमजोर हो चुके लोगों में ये दुर्लभ प्रकार का संक्रमण दिख रहा है ।

हाई डेथ रेट
ब्लैक फंगस को इसलिए भी खतरनाक माना गया है क्योंकि इसमें मृत्युदर लगभग 50 प्रतिशत होती है, इससे बचने के बाद भी मरीज की आंखों की रोशनी जा सकती है इतना ही नहीं मरीज का चेहरा भी बिगड़ सकता है । परेशान करने वाली बात ये कि अहमदाबाद और राजकोट के बाद ऐसे मामले दिल्ली, मुंबई में भी आ चुके हैं । दिल्ली में सामने आए मामलों में लगभग आधे मरीजों की तो आंखों की रोशनी ही जा चुकी है ।

बीमारी पुरानी लेकिन अब बढ़ रहे हैं मरीज
डॉक्‍टर्स के मुताबिक कोरोना के बाद अब ये नई बीमारी समस्‍या का कारण बन रही है, इस बीमारी के बारे में पता पहले से था लेकिन इसके मामले तब इतेन आम नहीं थे लेकिन कोरोना काल में इसके भी केसेज देखने को मिल रहे हैं । खास बात ये कि ब्लैक फंगस संक्रमण केवल कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वालों को ही होता है, चूंकि कोरोना के कारण लोग लो इम्‍यूनिटी से जूझ रहे हैं ऐसे में ये इंफेक्शन भी बढ़ गया है ।कोरोना से पहले ये समस्‍या कीमोथेरेपी, शुगर, ट्रांसप्लांट से गुजरने वाले लोगों और बुजुर्गों को ज्यादा प्रभावित करती थी।

क्‍या है ब्‍लैक फंगस ?
दरअसल ये बीमारी म्यूकॉरमाइसाइट्स नामक फफूंद से होती है । ये फंगस नाक से होते हुए शरीर के बाकी अंगों तक पहुंचती है । ये फंगस हवा में होता है और सांस के जरिए नाक में चला जाता है । कई बार शरीर के कटे या जले हुए स्थानों से भी ये फंगस इंफेक्शन का कारण बन जाता है । ब्रेड पर काले रंग की परत नजर आती है वो यहीं फंगस होती है । अगर इस समस्‍या के शुरुआती कुछ लक्षणों को पहचान लें और समय पर इलाज मिल सके तो जान बच सकती है ।
लक्षण
इस बीमारी के लक्षणों में सिर में दर्द, नाक बंद होना या अंदर पपड़ी जमना, आंखें लाल होना, सूजन होना शामिल है । ऐसा कोई भी लक्षण दिखे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत है । राहत की बात ये कि ये बीमारी एक से दूसरे को या जानवरों से इंसानों तक नहीं फैलती है ।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment