कुली से बस कंडक्टर तक, हर काम किया – फिर यूं ली फिल्‍मों में एंट्री और बन गए ‘भगवान’ - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Saturday, December 12, 2020

कुली से बस कंडक्टर तक, हर काम किया – फिर यूं ली फिल्‍मों में एंट्री और बन गए ‘भगवान’

 

कुली से बस कंडक्टर तक, हर काम किया – फिर यूं ली फिल्‍मों में एंट्री और बन गए ‘भगवान’

साउथ में भगवान के रूप में पूजे जाने वाले टॉलीवुड सुपरस्टार रजनीकांत का आज 70वां जन्मदिन है । देश और दुनिया में मौजूद उनके करोड़ों फैंस उन्हें जन्मदिन की बधाई भेज रहे हैं । रजनीकांत के कद का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आज रजनीकांत के जन्मदिन पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी ट्वीट कर उनको जन्मदिन की बधाई दी है और उनके दीर्घायु और स्वस्थ जीवन की कामना की है ।

गरीब परिवार में जन्‍मे
रजनी अन्‍ना का जन्‍मदिन 12 दिसंबर 1950 को बेंगलुरू के मराठी परिवार में हुआ था । बेहद गरीब परिवार में जन्मे रजनीकांत मेहनत और कड़े संघर्ष के दम पर फिल्‍म इंडस्‍ट्री में अपनी पहचान बनाने में कामयाब रहे । रजनीकांत को थलाइवा और भगवान पुकारा जाता है । उनका असली नाम शिवाजी राव गायकवाड़ है । पिता हवलदार थे और वो चार भाई-बहनों में सबसे छोटे थे । रजनीकांत जब चार साल के थे तभी उनकी माता का निधन हो गया । इसके बाद उनका पूरा परिवार टूट गया ।

कुली से लेकर कई काम किए ..
परिवार की खराब आथिक हालत के कारण उन्होंने कुली का काम करना शुरू किया, फिर बढ़ई का काम भी किया । कुछ समय बाद उनका बेंगलुरू परिवहन सेवा में बस कंडक्टर की नौकरी मिल गई । लेकिन उनका मन इन कामों में नहीं रमता था । रजनीकांत को फिल्मी दुनिया काफी लुभाती थी, एक्टिंग करने का उनका बड़ा मन था । जिसके चलते नौकरी करते हुए ही उन्होंने कन्नड़ रंगमंच में काम करना भी शुरू कर दिया । रजनीकांत ने अपने सपनों को पूरा करने के लिए एक दोस्त की मदद से 1973 में मद्रास फिल्म इंस्टीट्यूट में दाखिला ले लिया और एक्टिंग में डिप्लोमा हासिल किया । 35 साल में उन्‍होंने अपने फिल्मी करियर की शुरूआत की, पहली तमिल फिल्म ‘अपूर्वा रागनगाल’ थी । इसके बाद 1975 से 1977 के बीच उन्होंने कई फिल्‍में की जिसमें वो कमल हासन के साथ विलेन की भूमिका में नजर आई । पहली फिल्‍म जिसमें वो लीड रहे वो रही 1978 में आई ‘भैरवी’ । इस फिल्म के बाद से रजनीकांत स्टार बन गए ।

अलग स्टाइल से बनी पहचान
रजनीकांत ने एक के बाद एक कई सुपहिट फिल्में दी, उनका स्टाइल ही उनकी पहचान बन गया । साउथ में खूब नाम कमाने के बाद रजनीकांत ने बॉलीवुडमें फिल ‘अंधा कानून’ से डेब्यू किया, यहसं भी उनकी एक्टिंग दर्शकों को खूब पसंद आई । उनका सिगरेट पीना, सिक्‍का उछालना, चश्‍मा पहनना और स्‍माइल करना, सब कुछ रजनीकांत स्‍टाइल कहलाने लगा ।

मिले बहुत से सम्‍मान
एथ्‍क्‍टंग के महारथी रजनीकांत को सिनेमा जगत में बेहतरीन काम के लिए 2014 में 6 तमिलनाड़ु स्टेट फिल्म अवॉर्ड्स से सम्मानित किया जा चुका है । इसमें चार सर्वश्रेष्ठ अभिनेता और दो स्पेशल अवार्ड्स फॉर बेस्ट एक्टर के लिए दिए गए थे, उन्हें साल 2000 में पद्म भूषण से भी सम्मानित किया गया । साल 2014 में 45वें इंटरनेश्नल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया में रजनीकांत को सेंटेनरी अवॉर्ड फॉर इंडियन फिल्म पर्सनेलिटी ऑफ द ईयर से भी सम्मानित किया गया था ।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment