नामी कॉलेज से इंजीनियरिंग कर चुकी हैं शेहला रशीद, राजद्रोह का आरोप, विवादों से पुराना नाता! - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Tuesday, December 1, 2020

नामी कॉलेज से इंजीनियरिंग कर चुकी हैं शेहला रशीद, राजद्रोह का आरोप, विवादों से पुराना नाता!

 

नामी कॉलेज से इंजीनियरिंग कर चुकी हैं शेहला रशीद, राजद्रोह का आरोप, विवादों से पुराना नाता!

जेएनयू की पूर्व छात्र नेता और जम्मू-कश्मीर पीपुल्स कांफ्रेस की नेता शेहला राशीद का विवादों से पुराना नाता रहा है, इन दिनों भी वो जबरदस्त चर्चा में हैं, क्योंकि उनके पिता अब्दुल राशीद शोरा ने उन पर देश विरोधी गतिविधियों में संलिप्त रहने जैसे गंभीर आरोप लगाये हैं, हालांकि शेहला ने अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उनके पिता झूठे हैं और उनकी मां यानी अपनी पत्नी को मारते-पीटते हैं, बता दें कि शेहला जेएनयू की रिसर्च स्कॉलर हैं, विश्वविद्यालय में साल 2015-16 के छात्र संघ की उपाध्यक्ष भी रह चुकी हैं, आइये जानते हैं उनसे जुड़ी खास बातें।

इंजीनियरिंग की डिग्री
जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से ताल्लुक रखने वाले शेहला ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से कंप्यूटर इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है, खबरों के मुताबिक उन्होने बतौर इंजीनियर कुछ समय के लिये नौकरी भी की थी, हालांकि इसके बाद आगे की पढाई के लिये जेएनयू चली आई, जहां से सामाजिक आंदोलनों में उनकी दिलचस्पी बढी।
जेएनयू से समाजशास्त्र की पढाई
बताया जाता है कि नौकरी छोड़ने के बाद शेहला ने कश्मीर में ही बाल अधिकारों और महिला सशक्तिकरण से जुड़े कार्यों को करना शुरु किया था, इसी दौरान दिल्ली के प्रतिष्ठित जेएनयू से उन्होने समाजशास्त्र विषय में मास्टर्स किया है, उसके बाद वहीं से लॉ एंड मैनेजमेंट में एमफिल की पढाई की।

कई विवादों से जुड़ा है नाम
2016 में देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में तत्कालीन जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अन्य छात्रों को गिरफ्तार किया गया था, उस समय बुलंद आवाज में शेहला ने अपने साथियों को सपोर्ट किया था, कई मीडिया चैनल्स में उन्होने अपने साथियों के लिये पक्ष रखा था और कई विरोध आंदोलन का हिस्सा भी बनीं थी।

फेक न्यूज शेयर कर बढ गई थी मुश्किलें
कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाये जाने के बाद शेहला ने जम्मू-कश्मीर के हालातों को लेकर लगातार कई ट्वीट्स किये थे,  जिसमें उन्होने दावा किया था कि घाटी में भारतीय सेना लोगों पर अत्याचार कर रही है, हालांकि सेना ने शेहला के सभी आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए फेक न्यूज करार दिया था, इसके बाद दिल्ली पुलिस ने शेहला के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज किया था, इसके अलावा अपने वामपंथी विचारों को लेकर भी कई बार सोशल मीडिया पर वो चर्चा में आ चुकी हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment