भारत बंद में कहीं टायर जले तो कहीं रोकी गई ट्रेनें, ऐसे समझे अलग—अलग राज्यों का हाल - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Tuesday, December 8, 2020

भारत बंद में कहीं टायर जले तो कहीं रोकी गई ट्रेनें, ऐसे समझे अलग—अलग राज्यों का हाल

 

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों के विरोध में देश के विभिन्न हिस्सों से दिल्ली सीमा पर पहुंचे किसान आंदोलन कर रहे हैं। किसानों के आंदोलन का आज 13वां दिन है। कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने आज भारत बंद का आह्वान किया है। किसानों की तरफ से पूरे देश में सुबह 11 बजे से शाम 3 बजे तक भारत बंद बुलाया गया है। किसानों के इस भारत बंद का असर देश के अलग—अलग हिस्सों में अलग—अलग तरह का दिख रहा है। ऐसे में दिल्ली के रास्तों और ट्रैफिक पर भी असर पड़ रहा है। कई जगहों पर ट्रेन की पटरियों पर प्रदर्शन के चलते ट्रेनों को भी रोक दिया गया है।

दिल्ली

किसानों के आंदोलन का सबसे ज्यादा असर दिल्ली पर देखा जा रहा है। दिल्ली की सीमाओं पर किसान जमे हुए हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल किसानों के आंदोलन को पूरा समर्थन कर रहे हैं। किसानों के इस भारत बंद के चलते दिल्ली में परिवहन सेवाओं पर व्यापक असर पड़ रहा है। क्योंकि कुछ टैक्सी यूनियन ने भी किसानों के भारत बंद का समर्थन किया है।

पंजाब

भारत बंद का पंजाब पर खास असर इसलिए भी माना जा रहा है क्योंकि इस पूरे आंदोलन का केंद्र पंजाब ही है। यहां सत्तारूढ़ कांग्रेस, विपक्षी शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी भी बंद का पूरा समर्थन कर रही है। राज्य में बंद का पूरा असर दिख रहा है।

हरियाणा

पंजाब के बाद किसान आंदोलन का एक और प्रमुख केंद्र हरियाणा भी माना जा रहा है। यहां राज्य सरकार की सहयोगी दल जननायक जनता पार्टी के 5 विधायक किसानों के भारत बंद के समर्थन में आ गए हैं। इन सबके बीच नेशनल हाइवे सहित दिल्ली की तरफ आने वाले कई रास्तों पर बंद का व्यापक असर पड़ा है।

पश्चिम बंगाल

इसी क्रम में पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस के साथ-साथ लेफ्ट पार्टियों ने भी भारत बंद का समर्थन किया है। यहां राज्य की सभी ट्रेड यूनियन ने भी बंद के समर्थन में आ गए हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment