ये है दुनिया की सबसे महंगी वैक्सीन, जो इन बड़ी बीमारियों से बचाती हैं - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Sunday, December 20, 2020

ये है दुनिया की सबसे महंगी वैक्सीन, जो इन बड़ी बीमारियों से बचाती हैं


vaccine-010

 पूरी दुनिया कोरोना वायरस से परेशान है, इसका टीका आ रहा है। यह कुछ दिनों में बाजार में आ जाएगा, अगर कोई भी आया है। कोरोना वैक्सीन की कीमतें भी कंपनी से कंपनी में भिन्न होती हैं। दुनिया भर के वैज्ञानिकों ने विभिन्न बीमारियों को रोकने के लिए कई प्रकार के टीके विकसित किए हैं। तो आइए जानें कि दुनिया का सबसे महंगा टीका कौन सा है। एक खुराक की लागत कितनी है? और यह किसी भी बीमारी का इलाज नहीं करता है।

ट्विनरिक्स  : एक एकल खुराक की कीमत 6961 रुपये है

twinrix-01
हेपेटाइटिस-ए और हेपेटाइटिस-बी से बचाव के लिए टीका दिया जाता है। यह दवा कई ब्रांडों में मौजूद है। जिसे दुनिया भर की विभिन्न दवा कंपनियों ने अपने उत्पाद के नाम से बनाया है।

मेनैक्ट्रा  :  एक एकल खुराक की कीमत 8383 रुपये है
menactra-1


वैक्सीन का उपयोग खतरनाक बीमारी मेनिंगोकोकल मेनिन्जाइटिस और मेनिंगोकोकल सेप्सिस के लिए किया जाता है। यह फ्रांसीसी दवा कंपनी सनोफी द्वारा इस ब्रांड नाम के तहत बनाया गया है। आपको बता दें, सनोफी के पास अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भी पैसे हैं।

प्रेवर्नर 13  : एक एकल खुराक की कीमत 10,105 रुपये है

prevenar-13


यह टीका छोटे बच्चों के लिए है। जो उन्हें डिप्थीरिया सहित कई बीमारियों से बचाता है। संयोजन 0.5 मिलीलीटर की खुराक में न्यूमोकोकल 13-वैलेंट संयुग्म वैक्सीन (डिप्थीरिया CRM197 प्रोटीन) है। 10,105।

गार्दासिल  : एक एकल खुराक लागत रुपये 10,555

gardasil-


दुनिया में एकमात्र टीका जो मानव पेपिलोमावायरस एचपीवी से लोगों की रक्षा करता है। एचपीवी एक आम यौन संचारित संक्रमण है। जो पुरुष और महिला दोनों को हो सकता है। बिना यह जाने भी।

वैरीसेला  : एक एकल खुराक की कीमत 11,752 रुपये है

varicella-

टीका वैरिकाला वायरस से बचाता है। 
इसे आम बोलचाल में चिकन पॉक्स कहा जाता है। चिकन पॉक्स से शरीर पर लाल चकत्ते और चकत्ते हो जाते हैं, जिससे भयानक दर्द और खुजली होती है। वैरीसेला वायरस बच्चों और बुजुर्गों के लिए बहुत खतरनाक है।

प्रोक्वाडा (  प्रोक्वाड): 11.827 रुपये की लागत की एक खुराक

proquad-


यह टीका 12 वर्ष तक के बच्चों को दिया जाता है। यह बच्चों को कण्ठमाला, खसरा और रूबेला जैसी खतरनाक बीमारियों से बचाता है। आमतौर पर एक खुराक ही काफी है। लेकिन अक्सर एक दूसरी खुराक की आवश्यकता होती है।

Jostaveksa (  Zostavax): 13.024 रुपये की लागत की एक खुराक

zostawax-


टीका 50 वर्ष या उससे अधिक उम्र के लोगों को दाद नामक बीमारी से बचाता है। इस बीमारी को हर्पीज ज़ोस्टर भी कहा जाता है। यह बीमारी उसी वैरिकाला वायरस के कारण होती है जो चिकन पॉक्स का कारण बनता है।लक्षण रोगों में से एक के समान है।

source link newztezz.com

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment