पुछल्ले बल्लेबाजों को शॉर्ट पिच से बचाने के नियम से यह ऑस्ट्रेलियाई हुआ असहमत - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Wednesday, December 23, 2020

पुछल्ले बल्लेबाजों को शॉर्ट पिच से बचाने के नियम से यह ऑस्ट्रेलियाई हुआ असहमत

 

smith

दिल्ली। क्रिकेट में लगातार नियमों में बदलाव होता रहा है। बार-बार बल्लेबाजों के पक्ष में नियम बनते हैं और खेल के रोमांचक बनाये रखने की बात कही जाती है। इस बार ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ ने पुछल्ले बल्लेबाजों को शॉर्ट पिच गेंदों से बचाने की वकालत करने वाले चैपल पर निशाना साधा है। स्मिथ ने कहा कि पूर्व कप्तान इयान चैपल के बयान को अजीब है। शॉर्ट गेंदें खेल का हिस्सा हैं और इससे खेल का रोमांच बना रहता है। खेल के लोकप्रिय विशेषज्ञों में शामिल चैपल ने बाउंसर पर बैन को खारिज किया था लेकिन सिर में चोट और चक्कर आने जैसी स्थिति के बढ़ते मामलों को देखते हुए निचले क्रम के बल्लेबाजों को बचाने के लिए उन्होंने नियमों को कड़ा करने की बात की। चैपल गेंदबाजों के लिए सुरक्षा की बात कहना चाहते थे। स्मिथ इस सुझाव से सहमत नहीं हैं। स्मिथ ने कहा कि ऐसा लगता है कि इस समय इयान चैपल प्रत्येक मैच के बाद विचित्र बयान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरे नजरिए से शॉर्ट गेंद खेल का हिस्सा हैं और इससे खेल को रोमांच बना रहता है।

हमने देखा है कि काफी अच्छा संघर्ष देखने को मिला है। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि बाउंसर को अवैध घोषित किया जा सकता है। स्मिथ ने जोर देते हुए कहा कि उन्हें तेज गेंदबाजों के निचले क्रम के बल्लेबाजों को शॉर्ट बॉलिंग करने में कोई समस्या नहीं है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज से पहले सिर में चोट और चक्कर आने जैसी स्थिति के काफी मामले सामने आए जिसके बाद तेज गेंदबाजों के बाउंसर का इस्तेमाल करने को लेकर बहस तेज हो गई।

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की सीरीज का दूसरा टेस्ट 26 दिसंबर से शुरू होगा। टीम इंडिया इस समय टेस्ट सीरीज में 0-1 से पिछड़ रही है। दूसरे टेस्ट में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी नहीं खेल पाएंगे। चैपल बदलते क्रिकेट और गेदबाजों को लेकर एक नियम चाहते हैं। चैपल को मानना है कि क्रिकेट सुरक्षा के साथ हो।

source

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment