व्हेल की उलटी को मछुआरा समझ रहा था चट्टान, अब बदल गयी किस्मत - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Thursday, December 3, 2020

व्हेल की उलटी को मछुआरा समझ रहा था चट्टान, अब बदल गयी किस्मत

 

fisher man

बैंकॉक। मनुष्य की किस्मत कब, कैसे बदल जाएगी यह सोचा भी नहीं जा सकता है। थाइलैंड के एक व्यक्ति व्हेल मछली की उल्टी से करोड़पति बन गया है। नारिस नाम का मछुआरा व्हेल की उल्टी को सामान्य चट्टान का टुकड़ा समझ रहा था लेकिन जब असल कीमत पता चली तो उसकी आंखें फटी रह गईं। करीब 100 किलो वजन वाली उल्टी की कीमत 24 लाख पाउंड, लगभग 25 करोड़ रुपए है। नारिस ने जब एम्बरग्रीस को देखा तो उसे लगा कि ये महज चट्टान का टुकड़ा है। इसका कोई उपयोग नहीं हो सकता है। बाद में जब उसे इस चट्टान के रूप में व्हेल की उल्टी की कीमत पता चली तो उसे विश्वास ही नहीं हुआ। महीने में 500 पाउंड कमाने वाले नारिस के लिए ये भगवान की तरफ से भेजा गया उपहार है। नारिस ने बताया कि एक व्यवसायी ने उससे कहा है कि अगर इसकी क्वॉलिटी बेहतर हुई तो वो एम्बरग्रीस के टुकड़े के लिए उसे 23,740 पाउंड प्रति किलो के हिसाब से भुगतान करेगा।

इतनी बड़ी धनराशि मिल जाने की उम्मीद से नारिस को विश्वास ही नहीं हो रहा है। एम्बरग्रीस की कीमत पता चलते ही नारिस को अपनी सुरक्षा का डर सता रहा है। उसने पुलिस को भी इस बारे में जानकरी दे दी है। इसे अब तक पाया गया एम्बरग्रीस का सबसे बड़ा टुकड़ा बताया जा रहा है। ज्ञात हो कि वैज्ञानिक भाषा में व्हेल की उल्टी को एम्बरग्रीस कहते हैं। वैसे कई वैज्ञानिक इसे व्हेल का मल भी बताते हैं। यह व्हेल के शरीर से निकलने वाला अपशिष्ट होता है जो कि उसकी आंतों से निकलता है और वह इसे पचा नहीं पाती है। कई बार यह पदार्थ रेक्टम द्वारा बाहर आता है, लेकिन जब आकार बड़ा होता है तो व्हेल इसे मुंह से उगल देती है।

अब तक यह मिलने वाला सबसे बड़ा टुकड़ा है। वैज्ञानिकों के अनुसार व्हेल की आंतों से निकलने वाला स्लेटी या काले रंग का एक ठोस, मोम जैसा ज्वलनशील पदार्थ है। यह व्हेल के शरीर के अंदर उसकी रक्षा के लिए होता ताकि उसकी आंत को स्क्विड की तेज चोंच से बचाया जा सके। आमतौर पर व्हेल समुद्र तट से काफी दूर रहती हैं, ऐसे में उनके शरीर से निकले इस पदार्थ को समुद्र तट तक आने में कई साल लग जाते हैं। इस मामले में नारिस भाग्यशाली है। व्हेल के शरीर से निकलने वाला यह दुर्लभ पदार्थ है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment