ट्विटर ने अपने फर्जी फैक्ट चेक से ट्रम्प को बर्बाद किया और अब वही काम भारत में BJP के साथ कर रही है - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Thursday, December 3, 2020

ट्विटर ने अपने फर्जी फैक्ट चेक से ट्रम्प को बर्बाद किया और अब वही काम भारत में BJP के साथ कर रही है

 


ट्विटर खोलिए और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की Timeline पर जाइए! उनके हर दूसरे ट्वीट पर आपको नीले शब्दों में लिखा मिलेगा “This claim about election fraud is disputed” या फिर “Manipulated Media”! और सिर्फ डोनाल्ड ट्रम्प ही नहीं, अमेरिकी चुनावों के दौरान ट्विटर ने ट्रम्प समर्थकों और दक्षिणपंथी accounts के ऐसे ही “fact checks” किए हैं।


अब दिल थाम कर बैठ जाइए, ट्विटर ने अमेरिका में अपनी इस “सेंसरशिप” की अपार सफलता के बाद दुनिया के सबसे बड़े लोकतान्त्रिक देश भारत में इस नीति को लाने का फैसला लिया है। शुरुआत तो हो भी चुकी है और इसके सबसे ताज़ातरीन शिकार बने हैं भाजपा IT सेल के मुखिया अमित मालवीय। अमित मालवीय ने हाल ही में अपने एक ट्वीट में यह दावा किया था कि राहुल गांधी ने जवान बनाम किसान लिखते हुए जो फोटो पोस्ट की थी, उसमें जवान ने उस किसान को कोई चोट नहीं पहुंचाई थी। उसके बाद ट्विटर ने Alt News और Boom Live के साथ मिलकर उसे “Manipulated Media” करार दिया। इससे यह तो स्पष्ट हो गया कि अब ट्विटर भारत में भी दक्षिणपंथी ट्विटर accounts को चुन-चुन कर निशाना बनाएगा।

अक्सर यह सुनने में आता है कि तुर्की, पाकिस्तान और रूस जैसे देशों में सरकारें ट्विटर और फेसबुक जैसे platforms पर शिकंजा कसने का काम करती हैं। हालांकि, अब भारत और अमेरिका जैसे लोकतान्त्रिक देशों में खुद ट्विटर ही सरकार से जुड़े लोगों को सेंसर करने का काम कर रहा है। ट्विटर यह सब Disinformation यानि गलत सूचना के फैलाव को रोकने की आड़ में करता आया है। हालांकि, यह भी एक बड़ा प्रश्न है कि क्या सिर्फ एक विचारधारा का पालन करने वाले लोग ही झूठ फैलाते हैं? शायद नहीं, लेकिन ट्विटर कभी किसी वामपंथी यूजर के खिलाफ ऐसी दंडात्मक नीति अपनाता नहीं दिखाई देता।

उदाहरण के लिए यह ट्वीट देखिये!

यहाँ चीनी सरकार के प्रवक्ता एक झूठी और भ्रामक तस्वीर पोस्ट कर ऑस्ट्रेलिया की सरकार पर मासूमों का खून बहाने का आरोप लगा रहे हैं। खुद ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस, अमेरिका और न्यूजीलैंड की सरकारें इसको लेकर चीनी सरकार की आलोचना कर चुकी हैं। हालांकि, ट्विटर को यहाँ “Manipulated Media” का लेबल लगाने का समय नहीं मिल पाया! उल्टा ट्विटर ने यह ऐलान कर दिया कि उसे इस तस्वीर में कोई खराबी नज़र नहीं आती।

अमेरिका में Conservatives को सेंसर करने के बाद अब ट्विटर भारत में BJP समर्थकों पर ऐसी ही कार्रवाई कर उनकी पहुँच को नुकसान पहुंचा सकता है। भारत सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि ट्विटर अपनी किसी भी नीति के माध्यम से भारत के यूजर्स की अभिव्यक्ति की आज़ादी को प्रभावित ना कर पाये!

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment