कोरोना नियमों को ठेंगा, BJP नेता की पोती की सगाई में 6000 लोग हुए शामिल, Video - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Wednesday, December 2, 2020

कोरोना नियमों को ठेंगा, BJP नेता की पोती की सगाई में 6000 लोग हुए शामिल, Video

 

देशभर में एक बार फिर से कोरोना वायरस (Corona Virus) का संक्रमण काफी तेजी से फैलने लगा है. जिस कारण तमाम राज्यों ने एक बार फिर सख्ती कर दी है और जिन चीजों में लोगों को छूट दी गई थी उसमें भी पाबंदी लगा दी है. इसी के चलते राज्यों ने शादी-समारोह में शामिल होने वाले लोगों की संख्या को घटा दिया है और सीमित कर दिया है. लेकिन इस बीच बीजेपी नेता की पोती की सगाई सुर्खियों में हैं क्योंकि यहां कोविड-19 के नियमों (Covid-19 Guidelines) की धज्जियां उड़ाते हुए 6000 लोगों को शामिल किया गया है. जी हां, इस सगाई में कोरोना खतरे को पूरी तरह अनदेखा किया गया है. आयोजन एक ऐसे शहर में जहां हुआ है जहां पहले से ही कोरोना विकराल रूप ले रहा है. मामला गुजरात (Gujrat) का है. जहां कई शहरों में नाइट कर्फ्यू (Night curfew) में लगा हुआ है.

पोती की सगाई में उमड़ा पूरा हुजूम
हैरानी वाली बात है कि, जिस गुजरात सरकार ने कई शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाया हुआ है उसी राज्य में बीजेपी के बड़े नेता और पहले मंत्री रहे कांति गमित (BJP kanti gamit) की पोती की सगाई में पूरा हुजूम उमड़ पड़ा. जिसमें मेहमान सीमित संख्या या शिफ्ट में नहीं बल्कि एक साथ 6 हजार शामिल हुए.
kanti gamit mla granddaughter
इस पूरे आयोजन में गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया है और ना ही मास्क, सैनिटाइजर व सोशल डिस्टेंसिंग नजर आई. बल्कि लोग साथ में गरबा करते दिखाई दिए. पूरे मामला का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

जांच के आदेश
पोती की सगाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल (Video Social Media Viral) होने के बाद प्रशासन ने सख्ती दिखाई है और पुलिस ने पूर्व मंत्री को पूछताछ के लिए बुलाया. जबकि गृहमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने वीडियो की जांच के आदेश दिए हैं और सूरत रेंज के आईजीपी राजकुमार पांडियन के आदेश के बाद तापी एसपी ने शिकायत दर्ज कर जांच के सख्त आदेश जारी किए हैं. इसके साथ आयोजन में शामिल हुए लोगों पर भी केस दर्ज हुआ है और लापरवाह पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की जाएगी.

कांग्रेस का वार
आयोजन का वीडियो अपने आप में हैरान करने वाला है और इसे देखने के बाद कांग्रेस ने भी वार करने का मौका नहीं छोड़ा. कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष दोशी ने जिला कलेक्टर और पुलिस पर तो सवाल उठाए. जबकि कांग्रेस के राष्ट्रीय संओजन सरल पटेल ने वीडियो को ट्विटर हैंडल से शेयर करते हुए लिखा- ‘गुजरात में कोविड-19 के दिशानिर्देश, नियम, कानून और कर्फ्यू बीजेपी नेताओं पर लागू नहीं होते. आप जो वीडियो नीचे देख रहे हैं यह बीजेपी के पूर्व मंत्री कांति गामित की पोती की शादी से पहले के जश्न का है. यह तब हुआ जब गुजरात में मामले तेजी से बढ़ रहे हैं.’

बीजेपी नेता की पुलिस को सफाई
बीजेपी नेता कांति गमित को जब पुलिस ने बुलाया तो उन्होंने कहा कि, मेरे बेटे की बेटी की सगाई थी और इस सगाई के आयोजन में करीब 1055-2000 लोगों का भोजन रखा गया था. नेता की मानें तो लोगों को सगाई की जानकारी कार्ड के जरिए नहीं बल्कि व्हाट्सएप के जरिए मिली और वो शामिल हो गए. हालांकि, उन्होंने अपनी गलती भी स्वीकार की लेकिन कहा कि पूरा गांव आदिवासी इलाके में आता है और वो किसी को शामिल होने से मना नहीं कर सकते. बात अगर कोरोना केसों की संख्या की करें तो गुजरात में संक्रमित लोगों का आंकड़ा 2 लाख 11 हजार 257 पहुंच गई है. जबकि 4 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं जिस जिले में सगाई का आयोजन हुआ है वहां से 961 कोरोना मरीज सामने आ चुके हैं. फिलहाल इस आयोजन पर तमाम सवाल उठ रहे हैं.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment