उत्तर प्रदेश में प्रतिदिन हो रहा है 172 करोड़ का निवेश, योगी राज में UP बन रहा है इंडस्ट्रियल हब - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Wednesday, December 9, 2020

उत्तर प्रदेश में प्रतिदिन हो रहा है 172 करोड़ का निवेश, योगी राज में UP बन रहा है इंडस्ट्रियल हब

 


उत्तर प्रदेश की आर्थिक तस्वीर को बदलने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भूमिका अहम है। लॉकडाउन में जब वैश्विक स्तर पर निवेश खत्म अन्यथा कम हो रहा था तो यूपी में निवेश बढ़ रहा था। योगी के सीएम की कुर्सी पर बैठने के बाद से यूपी में प्रतिदिन करीब 172 करोड़ रुपए का निवेश हुआ है।

सीएम के सुधारों का असर है कि तीन सालों में ऐतिहासिक 1 लाख 88 हजार करोड़ का निवेश आ चुका है। यही नहीं, नोएडा और कानपुर जैसे शहर इंडस्ट्रियल हब बन उत्तर प्रदेश की सूरत बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। ये सारे आंकड़े बताते हैं योगी के नेतृत्व में राज्य के तौर पर यूपी आर्थिक महाशक्ति बनने की ओर है।

आज तक की एक रिपोर्ट बताती है कि यूपी में पिछले तीन सालों में योगी सरकार ने 186 सुधार लागू किए। इसका नतीजा ये हुआ कि यूपी में 156 देशी-विदेशी कंपनियों ने 48 हजार 707 करोड़ रुपए का निवेश कर उत्पादन शुरू कर दिया है। इसके जरिए करीब 1 लाख 21 हजार लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिला है। वहीं 174 अन्य ऐसी कंपनियां हैं जिन्होंने यूपी में करीब 53, 955 करोड़ के निवेश की तैयारियां शुरू कर दी हैं। जिसमे करीब 2 लाख लोगों को रोजगार मिलने की संभावनाएं हैं।

कुछ इसी तरह ही 86 हजार 261 करोड़ रुपए के निवेश करने वाली 429 कंपनियों की सारी प्रक्रियाएं पूरी हो गई हैं और निवेशक प्रोजेक्ट शुरू करने वाले हैं। इनमें 10 लाख 63 हजार 799 लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। इस पूरे खाके पर नजर डाले तो कुल 759 कंपनियां एक लाख 88 हजार 924 करोड़ रुपए की निवेश प्रक्रिया में है और 14 लाख 23 हजार 688 लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है। निवेश समेत रोजगार के आने से यूपी में आर्थिक विकास तेजी से आगे बढ़ रहा है।

प्रदेश में सबसे ज्यादा निवेश इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग में आया है। 32,544 करोड़ रुपए का निवेश 10 कंपनियों ने किया है। इसके अंतर्गत वीवो ओप्पो समेत कई स्मार्टफोन और मल्टीनेशनल कंपनियों ने नोएडा-ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में निवेश किया है। इसके अलावा मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर भी राज्य में तेजी से आगे बढ़ रहा है। इसके अंतर्गत 21 कंपनियों ने 10,913 करोड़ रुपए की लागत से इसी सेक्टर में निवेश किया हैं।

इलेक्ट्रॉनिक और मेन्युफेक्चरिंग के अलावा टेक्सटाइल के क्षेत्र मे चार कंपनियों ने 6,320 करोड़ का निवेश किया है। इसमें कानपुर, टेक्सटाइल के बड़े हब के रूप में उभर रहा है कानपुर प्लास्टिपैक लिमिटेड ने कानपुर देहात में दो सौ करोड़ रुपए, कानपुर में ही एक और कंपनी आरपी पॉली पैक्स ने डेढ़ सौ करोड़ रुपए का निवेश कर उत्पादन शुरू कर दिया है।

इसके अलावा नोएडा अपैरल एक्सपोर्ट प्रमोशन क्लस्टर गौतमबुद्धनगर में 5,000 करोड़ रुपए और क्लेस्टो यार्न बलरामपुर में 970 करोड़ के निवेश से उत्पादन शुरू करने की स्थिति में हैं।

हम आपको अपनी रिपोर्ट में पहले ही बता चुके हैं कि योगी आदित्यनाथ की सरकार में उत्तर प्रदेश के नोएडा कानपुर, लखनऊ, वाराणसी, गोरखपुर जैसे ज़िलों में निवेश नए आसमान छू रहा है। चीन से सामान बटोर कर कंपनियों ने यूपी आने का मूड बना लिया है। जो दिखाता है कि यूपी को आर्थिक रूप से देश के अग्रणी राज्यों की सूची में शामिल होने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment