11 दिसंबर यानि आज से बदल रहा पोस्ट ऑफिस का यह नियम, जान लें नहीं तो हो जाएगी बहुत दिक्कत - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

Friday, December 11, 2020

11 दिसंबर यानि आज से बदल रहा पोस्ट ऑफिस का यह नियम, जान लें नहीं तो हो जाएगी बहुत दिक्कत

 

अगर आपका पोस्ट ऑफिस में खाता है तो फिर यकीनन यह खबर आपके लिए बड़े ही काम की है। इस खबर में हम आपको पोस्ट ऑफिस से जुड़ी एक अहम जानकारी के बारे में बताने जा रहे हैं। बता दें कि पोस्ट ऑफिस आगामी 12 दिसंबर से अपने एक नियम में बदलाव करने जा रहा है। इस नियम के मुताबिक, 12 दिसंबर के बाद अगर आपके पोस्ट ऑफिस के खाते में 1 हजार रूपए कम होगा तो आपका खाता बंद कर दिया जाएगा। लिहाजा, अगर आप चाहते हैं कि आपका पोस्ट ऑफिस का खाता बंद न हो तो फौरन अपने पोस्ट ऑफिस के खाते में 1 हजार रूपए या फिर उससे अधिक रूपए जरूर जमा करा लें, जिससे कि आपका खाता बंद न हो अन्यथा ऐसा न करने पर आपका खाता बंद हो जाएगा और फिर आपको अत्याधिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ये भी पढ़े 

बता दें कि इस तरह के नियम कई मौकों पर बैंक भी लाती रहती है, जिसमें ग्राहकों से यह अनुरोध किया जाता है कि वो अपने खाते में मिनिमम बैलेंस रखें अन्यथा उनका खाता बंद कर दिया जाएगा। वहीं इस संदर्भ में अधिक जानकारी देते हुए पोस्ट ऑफिस ने कहा कि अब पोस्ट ऑफिस में मिनिमम बैलेंस को बनाए रखना जरूरी है। ध्यान रहे कि पोस्ट ऑफिस ने यह कदम ऐसे समय में उठाया है, जब महामारी के दौर में आर्थिक समस्याएं अपने चरम पर पहुंचती जा रही है।  अब ऐसी स्थिति में पोस्ट ऑफिस द्वारा उठाए गए इस कदम पर ग्राहकों का क्या प्रतिक्रियाएं सामने आती है। यह तो फिलहाल आने वाला वक्त ही तय करेगा।

 मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर हो सकती है दिक्कत
यहां हम आपको बताते चले कि अगर आप आपने अपने बचत खाते में मिनिमम बैलेंस नहीं बनाए रखा तो फिर आपको इसका चार्ज देना होगा।  नहीं देने पर..बचत खाते में से 100 काट लिए जाएंगे। लिहाजा, वे सभी ग्राहक जिनका बचत खाते मं मिनिमम बैलेंस नहीं है वो उसे फौरन पूरा कर लें। 

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment