COVID-19: जानिए, भारत में कब और कितने रुपये में मिलेगी कोरोना की वैक्सीन - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

20 November 2020

COVID-19: जानिए, भारत में कब और कितने रुपये में मिलेगी कोरोना की वैक्सीन

COVID-19: जानिए, भारत में कब और कितने रुपये में मिलेगी कोरोना की वैक्सीन

देश में कोरोना संक्रमण एक बार फिर खतरनाक होता जा रहा है । दिल्‍ली – महाराष्‍ट्र जैसे महानगरों में आंकड़े परेशान करने वाले हैं । एक बार फिर से लॉकडाउन की जरूरत महसूस की जाने लगी है । इस बीच एक खुशखबरी है भी है कि विदेशी कंपनियां कोविड-19 के टीके के 95 प्रतिशत तक सफल ट्रायल की बात कह रही हैं । इस बीच सवाल यही है कि भारत में ये कब तक अवेलेबल होगा, कितनी कीमत में मिलेगा कोरोना का टीका । आपको बता दें सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ आदर पूनावाला का इसे लेकर बयान आया है । वैक्‍सीन की कीमत से लेकर ये टीका कब तक अवेलेबल होगा, उन्‍होंने ये कहा है ।

भारत में कब आएगी वैक्सीन?
सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ आदर पूनावाला का कहना है कि ये वैक्सीन फरवरी तक बाज़ार में आ जाएगी । सीरम इंस्टिट्यूट ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन का एस्ट्रेजेनिका के साथ मिलकर भारत में ट्रायल कर रही है ।  एक कार्यक्रम के दौरान पूनावाला ने कहा कि 2021 की पहली तिमाही में वैक्सीन की करीब 30 से 40 करोड़ खुराक उपलब्ध हो जाएगी । जबकि, स्वास्थ्य कर्मियों और बुजुर्गों के लिए कोविड-19 का टीका अगले साल फरवरी तक और आम लोगों के लिए अप्रैल तक उपलब्ध हो जाना चाहिए । पूनावाला ने बताया कि 2024 तक हर भारतीय को टीका लग चुका होगा ।

कितनी होगी कीमत ?
आदर पूनावाला के मुताबिक इस वैक्सीन की कीमत भारत में ज्यादा से ज्यादा 1000 रुपये होगी । वैक्सीन की दो डोज दी जाएंगी, हर डोज की कीमत 500 रुपये से 600 रुपये के बीच ही होगी । संभावना है कि सरकार की तरफ से ये दोनों डोज आम लोगों को करीब 440 रुपये में उपलब्ध करायी जाएगी । पूनावाला ने बताया कि सरकार को हर डोज 3 से 4 डॉलर में दी जाएगी । हालांकि इसे लेकर सरकार की ओर कोई अधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है ।

भारत में कब तक सबको मिलेगी वैक्‍सीन
पूनावाला ने बताया – ‘भारत में हर व्यक्ति को टीका लगने में दो या तीन साल लग जाएंगे,ये केवल सप्लाई में कमी के कारण नहीं बल्कि इसलिए भी क्योंकि आपको बजट, टीका ,साजो सामान, बुनियादी ढांचे की जरूरत है और फिर टीका लगवाने  के लिए लोगों को राजी होना चाहिए और ये वे फैक्टर्स हैं जो पूरी आबादी के 80-90 प्रतिशत लोगों को टीकाकरण के लिए जरूरी है।’ आपको बता दें वैक्‍सीन के ट्रायल में अच्छे परिणाम को देखते हुए बड़े पैमाने पर वैक्सीन का उत्पादन कर दिया गया है। खबर है कि भारत ने भी 150 करोड़ से ज्‍यादा डोज खरीदने के लिए एडवांस बुकिंग करा दी है । वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के अनुसार, कोविड-19 वैक्सीन डोज खरीदने के मामले में भारत तीसरे नंबर पर है ।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment