‘जो नाम बदलकर शादी करते हैं उनका राम नाम सत्य होगा’, लव जिहाद के खिलाफ़ योगी ने भरी हुंकार - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

01 November 2020

‘जो नाम बदलकर शादी करते हैं उनका राम नाम सत्य होगा’, लव जिहाद के खिलाफ़ योगी ने भरी हुंकार


इन दिनों गैर-मुस्लिम लड़कियों खासकर हिन्दु लड़कियों के साथ धोखे से विवाह कर जबरदस्ती उनका धर्म परिवर्तित करने का प्रचलन बहुत ज़ोरों से बढ़ रहा है, जिससे देश के कई हिस्से प्रभावित हैं। जिस प्रकार से कट्टरपंथी मुसलमान इस घृणित अपराध को अंजाम देने के लिए सारी हदें पार कर रहें हैं, उसके विरुद्ध एक अहम निर्णय में इलाहाबाद [प्रयागराज] हाई कोर्ट द्वारा केवल धर्म परिवर्तन के लिए किया गया विवाह अवैध करार दिया गया। इस निर्णय से प्रेरित होकर उत्तर प्रदेश शासन ने अब लव जिहाद की समस्या के विरुद्ध निर्णायक युद्ध की घोषणा कर दी है और कहा है कि ऐसे लोग ‘राम नाम सत्य’ की यात्रा के लिए एकदम तैयार रहें।

लव जिहाद के मामले पर योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक आदेश दिया है कि शादी के लिए धर्म परिवर्तन को मान्यता नहीं मिलनी चाहिए। इस वजह से सरकार भी निर्णय ले रही है कि हम लव जिहाद को सख्ती से रोकने का काम करेंगे। एक प्रभावी कानून बनाएंगे।’ उन्होंने आगे कहा कि ‘भेष बदलकर, नाम छिपाकर जो लोग बेटियों की इज्जत के साथ खिलवाड़ करते हैं, उन्हें मैं चेतावनी देता हूं कि उनकी राम-नाम सत्य की यात्रा निकलने वाली है। हम लोग मिशन शक्ति के कार्यक्रम को इसीलिए चला रहे हैं। मिशन शक्ति के कार्यक्रम का मतलब यही है कि हम हर मां-बहन को सुरक्षा की गारंटी देंगे। फिर भी दुस्साहस किया तो ऑपरेशन शक्ति अब तैयार है। इसका उद्देश्य यही है कि हम हर हाल में उनकी सुरक्षा करेंगे। उनके सम्मान की सुरक्षा करेंगे। न्यायालय के आदेश का पालन होगा और बहन-बेटियों का सम्मान होगा।’ इतना ही नहीं, योगी आदित्यनाथ ने ये भी कहा कि जो भी व्यक्ति लव जिहाद में लिप्त पाया जाएगा, उसके पोस्टर्स सार्वजनिक तौर पर लगाए जाएंगे।

बता दें कि पिछले महीने इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक अहम निर्णय में केवल धर्म परिवर्तन के लिहाज से की गई शादी को अवैध करार दिया था। निर्णय सुनाते वक्त 23 सितंबर को इलाहाबाद हाई कोर्ट के जस्टिस त्रिपाठी ने कहा था कि “वर्तमान में केवल विवाह के लिहाज से किया गया धर्म परिवर्तन, चाहे उसमें आस्था हो या नहीं, इस्लाम में वैध परिवर्तन का मार्ग नहीं प्रशस्त कर सकता।”

परंतु इस निर्णय की क्या आवश्यकता थी? दरअसल, लव जिहाद की समस्या एक बार फिर सुर्खियों में है, क्योंकि जब से तनिष्क ने एक हास्यास्पद एड प्रकाश किया था तभी से लव जिहाद का मुद्दा चर्चा का विषय बन चुका है। स्थिति तब बिगड़ गई जब अपहरण के प्रयास में असफल होने पर तौसीफ नामक व्यक्ति ने फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में निकिता तोमर की दिन दहाड़े हत्या कर दी, क्योंकि उसने तौसीफ से विवाह करने से स्पष्ट मना कर दिया था।

अब उत्तर प्रदेश भी इस समस्या से अछूता नहीं है, और इसीलिए योगी आदित्यनाथ ने लव जिहाद के विरुद्ध निर्णायक युद्ध छेड़ दिया है। अगस्त माह से ही योगी आदित्यनाथ ने राज्य के गृह मंत्रालय के उच्चाधिकारियों को इस समस्या का उचित समाधान निकालने के निर्देश दिए थे। चाहे लव जिहाद हो, या फिर किसी भी तरह का अवैध धर्मांतरण, इसके विरुद्ध योगी आदित्यनाथ किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं। अब योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट हुंकार भरी है कि लव जिहाद के विरुद्ध राज्य में एक कानून लाया जाएगा, और जल्द ही इसके संबंध में सरकार एक अध्यादेश भी निकाल सकती है।

जैसा कि हिंदुस्तान टाइम्स ने पहले भी रिपोर्ट किया था, एक सरकारी अफसर के अनुसार, “सीएम का मानना है कि ऐसी घटनाओं को नियंत्रित करने के लिए एक ठोस रणनीति की आवश्यकता है, और कुछ दिनों बाद इसके लिए एक अध्यादेश भी आ सकता ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि सनातन संस्कृति की रक्षा करनी हो, तो योगी आदित्यनाथ हमेशा देश के लिए अनोखी मिसाल पेश करते हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment