उछलती, बाउंस लेती पिच से अब नहीं डरते भारतीय बल्लेबाज - Bollyycorn

Breaking

Bollyycorn

Bollywood-Hollywood-TV Serial-Bhojpuri-Cinema-Politics News, Gadgets News

17 November 2020

उछलती, बाउंस लेती पिच से अब नहीं डरते भारतीय बल्लेबाज

 

glen

सिडनी। अब उछलती, बाउंस लेती पिच पर भारतीय बल्लेबाज नहीं डरते हैं। जबकि पहले भारतीय बल्लेबाजी उछलती, बाउंस लेती पिच पर असहाय नजर आती था। यह बातें एक साक्षात्कार के दौरान पूर्व ऑस्ट्रेलियायी गेंदबाज ग्लेन मैकग्रा ने कही है। ग्लेन मैकग्रा ने कहा कि अब भारतीय बल्लेबाज उछलती, बाउंस लेती पिच पर बल्लेबाजी करना सीख गये हैं। भारतीयों ने पिछले दौरे पर सीरिज जीत कर आत्मविश्वास हासिल कर लिया है। आईपीएल में जब भारतीय खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों के साथ खेलते हैं तब उन्हें बहुत कुछ सीखने और सामान्य होने का अवसर मिलता है। भारतीय टीम जब ऑस्ट्रेलिया आती है तो उसमें जुझारू मानसिकता उबाल मारने लगती है। ग्लेन मैकग्रा ने कहा टीम का संतुलन बेहद अच्छा है। एक टेस्ट के बाद विराट कोहली का वापस जाना टीम के लिए नुकसानदेह है। ऐसे में नए खिलाड़ी को भी अपना प्रदर्शन करने का अवसर मिलता है।

मैकग्रा ने कहा रोहित शर्मा के पास एक अच्छा अवसर है। टीम के दूसरे खिलाड़ियों को भी विराट की कमी को भरपाई करना है। रोहित शर्मा को टेस्ट क्रिकेट में अपने का साबित करना है। रोहित को अभी तक जो भी क्रिकेट में मिला है उससे ज्यादा मिलना बाकी है। ग्लेन मैकग्रा से जब पूछा गया कि अब ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज किस भारतीय बल्लेबाज पर निशाना साधेंगे।

मैकग्रा ने कहा कि टीम के लिए सभी का विकेट महत्वपूर्ण होता है। विराट के नहीं होने पर चेतेश्वर पुजारा, आंजिक्य रहाणे, केएल राहुल पर जिम्मेदारी बढ़ी है। ऑस्ट्रेलियाई इन बल्लेबाजों की उछलती पिछ पर परीक्षा लेंगे। मैकग्रा ने कहा कि अब क्रिकेट तेज खेली जा रही है। पहले टी-20, एकदिवसीय इस अंदाज में नहीं खेला जाता था। अब एकदिवसीय में 300 रन बनाना सामान्य बात हो चुकी है। कोई भी स्कोर सुरक्षित नहीं रह गया है। टी-20 और एकदिवसीय का प्रभाव टेस्ट पर देखा जा सकता है।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप बॉलीकॉर्न.कॉम (bollyycorn.com) के सोशल मीडिया फेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

No comments:

Post a Comment